दंतेवाड़ा जेल में बंद सीआरपीएफ के सिपाही ने सुसाइड क्यों किया?

Himanshu Kumar : कल रात दंतेवाड़ा की जेल में बंद एक सीआरपीएफ के सिपाही ने आत्महत्या कर ली . इस सिपाही ने पहले सीआरपीएफ के चार अन्य सिपाहियों की गोली मार कर हत्या कर दी थी . उसके बाद इस सिपाही को जेल में डाल दिया गया था . दंतेवाड़ा में सिपाही बहुत तनाव में हैं . सरकार उनसे निर्दोष आदिवासियों की हत्या करवा रही हैं . बदले की कार्यवाही से डरे हुए सिपाही बहुत तनाव में रहते हैं .

 

ये सिपाही गरीब घरों के बेटे हैं . अपनी गरीबी मिटाने के लिये यहाँ नौकरी कर रहे हैं . ज्यादातर सिपाही रिश्वत देकर नौकरी में लगे हैं . नौकरी पाने के लिये रिश्वत देने के लिये अनेकों सिपाहियों को अपनी ज़मीन बेचनी पड़ती है या क़र्ज़ लेना पड़ता है . इस क़र्ज़ का तनाव भी इन सिपाहियों के दिमाग में रहता है . मेरी बातचीत कई सिपाहियों से हुई है . अनेकों सिपाही अपने अफसरों के अमानवीय व्यवहार से बहुत तनाव में रहते हैं . अफसर गाली गलौज से बात करते हैं , सिपाहियों का अपमान करते हैं . सिपाही अपनी बैरक के बाहर से दुश्मन से घिरा हुआ और बैरक के भीतर अपमान से सामना करता रहता है . सिपाही के साथ कोई भी प्रेम या सहानुभूति से कभी व्यवहार नहीं करता . ऐसी हालत में कोई भी मनुष्य मानसिक रूप से असामान्य हो ही जायेगा . हमारे देश के नौजवान अपने ही देश के कमज़ोर नागरिकों को मार रहे हैं . अगर सिर्फ अपना पेट पालने के लिये आपको अपने ही देशवासियों को मारने का काम सौंपा जाए तो आप की क्या हालत होगी ? क्या आपको नहीं लगता आप भी इस हालत में पागल हो जायेंगे ?

हिमांशु कुमार के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *