दुष्कर्म की शिकार महिला बोली- न्याय नहीं मिला तो जान दे दूंगी

: सणतरा प्रकरण – दुष्कर्म के आरोपी सरपंच को गिरफ्तार करने की मांग :  बाड़मेर दुष्कर्म का आरोपी खुलेआम घूम रहा है। मामला दर्ज होने के पंद्रह दिन बाद भी आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार नहीं किया है। न्याय के लिए हर चौखट पर दस्तक देने के बावजूद न्याय नहीं मिल रहा है।  पुलिस की लापरवाही से महिलाओं की आबरू दांव पर लगी है। अगर समय रहते आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया तो मैं आहत होकर जान दे दूंगी। यह बात दुष्कर्म पीडि़ता ने पत्रकारों से मुखाबित होते हुए कही। पीडि़ता ने बताया कि पुलिस थाना गिड़ा में 30 मई को दुष्कर्म का मामला दर्ज करवाया गया। आरोपी की राजनीतिक एप्रोच के चलते पुलिस गिरफ्तार नहीं कर रही है।

इस संबंध में एसपी, आईजी पुलिस से न्याय की गुहार की गई। मगर अभी तक उसे न्याय नहीं मिला है। नेताओं के दबाव में पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। ऐसे में आरोपी के हौसले बुलंद हैं। वह मुझे जान से मारने की धमकियां दे रहा है। जिससे मेरा जीना दुश्वार हो गया है। पीडि़ता के भाई ने बताया कि पुलिस थाने में मामला दर्ज करवाने के बाद आरोपी पक्ष की ओर से राजीनामा करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। अबला की आबरू लूटने के मामले को पुलिस गंभीरता से नहीं ले रही है। बीते पंद्रह दिन से न्याय के लिए भटक रहे हैं।  मगर कहीं पर सुनवाई नहीं हो रही है। इस स्थिति में पीडि़ता को आत्महत्या के लिए मजबूर किया जा रहा है।

लापुंदड़ा निवासी एक विधवा महिला ने 30 मई को मामला दर्ज करवाया कि सणतरा सरपंच भगवानाराम ने उसे पीहर जाते वक्त जबरदस्ती गाड़ी में डाल दिया। दूर जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। इस आशय का मामला पुलिस थाना गिड़ा में दर्ज किया गया। पीडि़ता की मेडिकल जांच भी की गई। सणतरा प्रकरण में पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। मामला दर्ज होने के पंद्रह दिन बाद भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया है। राजनीतिक एप्रोच से मामले को दबाने का प्रयास हो रहा है। जिससे पूरे समाज में रोष है। अगर समय रहते पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया तो आंदोलन किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *