दैनिक जागरण के पत्रकार श्रीकांत सिंह का आरोप- ट्रांसफर में भी फर्जीवाड़ा (देखें आर्डर, सुनें टेप, पढ़ें एसएमएस)

मुझे परेशान करने के लिए दैनिक जागरण प्रबंधन ने अब तक दो बार ट्रांसफर लेटर पकडाए हैं। आज दोनों पत्रों की कापी जारी कर रहा हूं। उन्हें गौर से देखें तो बिना किसी एक्सपर्ट की मदद से यह स्पष्ट हो जाएगा कि दोनों में अधिकारी का पद और नाम एक है, लेकिन हस्ताक्षर अलग-अलग हैं।

जाहिर है दोनों में कम से कम एक पत्र अवश्य ही फर्जी है। प्रताडना के लिए प्रबंधन इतना गिर जाएगा और फर्जीवाडा करने लगेगा, इसकी हमने कल्पना तक नहीं की थी। प्रबंधन की हरकतों की गहन जांच करार्इ जाए, तो और भी बडे-बडे फर्जीवाडे सामने आ सकते हैं।


SMS between News Editor Mr. Kishor Jha and Me (Shrikant Singh)

Date-14-12-2013

Kishor Jha-

Aap bana sakti hai Sarkar me sabse aham ghatnakram tha congress ka Lt. Governor ko bheji samarthan ki chitthi. Maine use crosser me judwate hue kaha tha ki ye katna nahin chahiye, iske bavjood use crosser se hata diya gaya. Baki akhbar bhi dekhen aur batayen ki aisa karne wala akhbar ka dushman kaun hai aur kyon na us se chhutkara pane ki taiyari shuroo ki jaye?

Answer-

The crosser was being repeated with a subhead. Thanks.

Kishor Jha-

Lead me to koi subhead hai hi nahin, fir repeat hone ka swal kahan uthta hai.

Answer-

Sorry, there is subheading not subhead like NBT. Thanks.

Kishor Jha-

Aaj akhbar buri tarah se pita hai. Kal ki sabse badi ghoshna congress ne ki thi, jo ubhari hi nahi, aapne use follow karte hue sirf sanket diya, use heading aur 2 crosser me jagah di.

Haryana aur UP tak Page 1 par rakhe gaye Lalu Delhi me ek najar se bhi gayab ho gaye. Jabki baar-baar kaha jata raha hai ki Delhi me badi sankhya me Bihar ke log hain. Soochi me bhi ye lagatar ooper thi.

Answer-

Laloo ki khaber last houre tak ander lagi hi nahi thi. Teen bar kahane per use lagaya gaya aur wah bhi alter kar ke.

Kishor Jha-

Aaj lead me hui chook ke liye aap agle aadesh tak chhutti par rahen.

Kishor Jha ne aise taal di baat—ek SMS

Senior ke aadesh par aap kya kah sakte hain? Jo karna hai senior hi karenge. Unse senior se hi baat karne ke liye kah den. Main awakash par hun. Aise me mere aadesh par sirf Vishnu ji hi rok laga ya palat sakte hain.

————————————————–
Vishnu Tripathi ko SMS on 18-12-2013

Respected Sir, kishor ji ne kaha hai ki aap ke aadesh par hi kam kar sakata hun. Aap ka kya aadesh hai. Aaj kaam karun ya laut jaun?

No answer——

Sir, office men do ghante se baitha hun. Mujhe koi aadesh nahi mila.

No answer——–

Plan Kishor ji ne banaya aur khaber sarvesh ji ne. cross check kiya om verma ne. Maine page samay per chhoda to force leave per sirf main kyon?

No answer————-Bad men Phone per Vishnu Tripathi ne kaha-Is mamle se mera koi sambandh nahin hai. Kishor ji ne aap ki shikayat ki hai——-

19-12-2013

SMS to Kishor Jha-

Sir, Vishnu ji told me that every thing is depend on you. So I am going to join duty as was your order.


इसके बाद एक हफ्ते तक बिना किसी गलती के काम कराने के बावजूद एकाएक 28-12-2013 को जम्मू के लिए ट्रांसफर लेटर दे दिया गया और यह साबित करने का प्रयास किया गया कि दैनिक जागरण के भाग्य विधाता अपने कर्मचारियों को परेशान करने में नंबर वन हैं. उनकी इस हरकत से भले ही अखबार डूब जाए, लेकिन काम करने वालों को टिकने नहीं दिया जाएगा. इसी प्रकार से चंद्र मोहन ठाकुर और राधेश्याम का भी तबादला किया गया है.

नीचे एक टेप है जिसमें मेरी और जनरल मैनेजर नितेंद्र की बातचीत है… इस बातचीत से यह स्पष्ट है कि मैंने अपने तबादले को रुकवाने के लिए हर स्तर पर काफी प्रयास किया और अनुरोध किया. मैंने अपने खराब सेहत के बारे में जानकारी दी… साथ ही, जागरण के प्रति अपनी निष्ठा और लंबी सेवाओं का हवाला भी दिया…


श्रीकांत सिंह
मुख्य उपसंपादक
दैनिक जागरण, नोएडा
srikant.jagran@hotmail.com


संबंधित खबरें…

संजय गुप्ता से की विष्णु त्रिपाठी और किशोर झा की शिकायत

xxx

आशु जी, सुना है आप आम आदमी बन गए हैं!

xxx

जागरण वालों के खिलाफ मानवाधिकार आयोग को भेजे पत्र में पत्रकार श्रीकांत ने क्या लिखा, पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *