न्यूज चैनलों का फैसला- पीड़िता के अंतिम संस्कार, परिवार, गांव की लाइव कवरेज नहीं दिखाएंगे

Deepak Choubey : सभी न्यूज चैनलों ने आपसी सहमति से ये फैसला किया है कि हम उस लड़की के परिवार, उसके गांव, उसके अंतिम संस्कार की तस्वीरें नहीं दिखाएंगे. हम नहीं चाहते कि जिस परिवार की बेटी के साथ इतना दर्दनाक हादसा हुआ है, उसकी निजता का उलंघन हो. न्यूज चैनलों की आपसी सहमति के बाद बीईए ने एक गाइडलाइंस तैयार की है …..

1. No OB and teams at the funeral or home town or airport

2. do not show the funeral.

3. Do not show shots of home or family.

4. No shot of arrival of body.

5. no shots of transportation of body. And if course no chasing of the funeral van .

6. No interview with any relative .

7. Info about arrival of body and funeral should be given. However, location of funeral should not be given.

8. The above guidelines are exhaustive. There could be situations not covered in above points. In such cases, pl follow the guiding principle of protecting the IDENTITY , DIGNITY and PRIVACY of the girl.


Rajan Agrawal : न्‍यूज चैनलों के लिए एनबीए ने गाइडलाइन जारी की हैं। इसमें कहा गया है कि कोई भी न्‍यूज चैनल लड़की और परिजनों की कोई तस्वीर नहीं दिखाएगा। इसके अलावा, दाह संस्‍कार का समय और स्थान भी नहीं बताना है। साथ में शव लेकर आने वाली गाड़ी का कवरेज नहीं करना है। यही नहीं, पीड़िता के घर न्‍यूज चैनल अपनी ओबी वैन भी नहीं भेज सकते हैं। यदि कोई न्‍यूज चैनल इस गाइड लाइन का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

    Shankar Suman its a gud step….channel should and have follow
 
    Ashish Kumar 'Anshu' khabar par to rok naheen hai….
 
    Rajan Agrawal Ashish Kumar 'Anshu' भाई अभी इस तरह की जानकारी नहीं मिल पाई है…
   
    Ashish Kumar 'Anshu' Facebook walon par vaise koi guide line lagoo hoti hai ya naheen? yah bhee bataiyga bhai….
    
    Ajit Anjum मैं सिर्फ तथ्य के स्तर पर जानकारी में सुधार कर दूं . सभी न्यूज चैनलों ने सहमति से ये फैसला किया है कि हम उस लड़की के परिवार, उसके गांव, उसके अंतिम संस्कार की तस्वीरें नहीं दिखाएंगे …..हमने आपसी सहमति से ये फैसला किया है कि हम उसके गांव में ओबी वैन नहीं भेजेंगे …लाइव कवरेज नहीं करेंगे ……ये न्यूज चैनलों का फैसला है, सरकारी गाइडलाइंस नहीं ….

फेसबुक पर दीपक चौबे और राजन अग्रवाल की वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *