‘पंजाब केसरी’ वालों ने हिम्मत कर दी चिदंबरम-जेठमलानी पत्राचार के बारे में छापने की

एक मसला है जिसे उठाने, छापने की हिम्मत न तो भाजपा वालों में है और न ही किसी मेनस्ट्रीम मीडिया में. इस मसले को सबसे पहले भड़ास4मीडिया ने उठाया और धीरे-धीरे एक-एक पहलू को उजागर किया. कई तरह के दबावों, धमकियों के बावजूद भड़ास ने जब हिम्मत और सतर्कता के साथ इस गंभीर-सनसनीखेज मामले के एक-एक परत को उघाड़ना शुरू किया तो अब कई वेबसाइटें और अखबार इसको लेकर छापने लगे हैं. पर अब भी संख्या बहुत कम है.

हां, सोशल मीडिया पर यह मसला खूब लिखा, पढ़ा, शेयर, ट्विट, री-ट्विट किया जा रहा है. 'पंजाब केसरी' ने पहली दफे इस प्रकरण पर विस्तार से छापा है. हालांकि यह खबर के फार्मेट में नहीं है. इसे लेख के रूप में दिया गया है. लेखक हैं वीरेंद्र कपूर जो 'अंदर की बातें' नामक कालम लिखते हैं पंजाब केसरी में. क्या छपा है, उसे जानने के लिए नीचे जो अखबारी कटिंग है, उस पर क्लिक कर दें… उसके बाद अखबारी कटिंग के ठीक नीचे दिए गए लिंक्स पर एक-एक कर क्लिक करते जाएं.

-यशवंत, एडिटर, भड़ास4मीडिया



संबंधित खबरें:

मुंबईवाला डाट काम ने अभिसार शर्मा और तेलगुमिर्ची डाट काम ने दीपक चौरसिया को लपेटा

xxx

एनडीटीवी मनी लांड्रिंग को लेकर प्रणय राय और गुरुमूर्ति के बीच हुए पत्राचार को पढ़ें

xxx

एनडीटीवी, ब्लैकमनी, एसके श्रीवास्तव, जांच और जेठमलानी-चिदंबरम पत्राचार

xxx

एक चैनल में कांग्रेसी नेता के कथित हजारों करोड़ निवेश के मसले में कुछ अपडेट

xxx

एक बड़े न्यूज चैनल में कई हजार करोड़ रुपये डालकर ब्लैक को ह्वाइट कर लिया एक बड़े कांग्रेसी नेता ने!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *