पटना के वरिष्‍ठ पत्रकार विनायक विजेता को जान से मारने की धमकी

पटना के वरिष्‍ठ पत्रकार विनायक विजेता को फोन से जान से मारने की लगातार धमकी दी जा रही है. इस संबंध में उन्होंने पटना के गर्दनीबाग थाना में एफआईआर दर्ज कराया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. हालांकि आरोपी अब भी पुलिस की पकड़ से बाहर है. विनायक विजेता ने अपने एफआईआर में बताया है कि बीते कई दिनों से लगातार मेरे मोबाईल नंबर 9973030693 पर मोबाइल नम्‍बर 9334418981 से मुझे जान मारने की धमकी से संबंधित लगातार एस.एम.एस. भेजा जा रहा है.

उन्‍होंने बताया है कि जहाँ तक मुझे जानकारी मिली है कि यह नंबर छपरा के एकमा निवासी किसी सचिन मिश्रा के पास है, जिसने किसी दूसरे के नाम से यह मोबाइल ले रखा है. विनायक के अनुसार घटना का कारण यह है कि सचिन इस नंबर से पत्रकार नगर थाना क्षेत्र के हनुमान नगर निवासी हमारी एक मुँहबोली बहन अमिता आयूषी के मोबाइल नंबर 93049–592 पर गंदे-गंदे और धमकी भरा मैसेज भेजा करता था, जिसकी शिकायत अमिता ने मुझसे की थी. तब 26 फरवरी 2013 को मैंने सचिन के नंबर 9334418981 पर फोन कर उसे ऐसा नहीं करने की सलाह दी तब भी उन्होंने अपने को बाहुबली पूर्व सांसद शहाबुद्दीन और पूर्व मंत्री अवध बिहारी चौधरी का करीबी बताते हुए फोन पर ही मुझे भी बर्बाद करने की धमकी दी.

विनायक विजेता ने पुलिस से गुहार लगाई है कि सचिन मिश्रा की सोहबत कुछ अपराधी तत्‍वों से भी है, लिहाजा उनकी जान को बराबर खतरा बना हुआ है. पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली और मामले की जांच कर रही है. इस घटना के बाद से विनायक विजेता अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. नीचे विनायक विजेता द्वारा दिए गए एफआईआर की कॉपी.



सेवा में,
थानाध्यक्ष
गर्दनीबाग थाना, पटना।

विषय :- 9334418981 नंबर के मोबइल से मुझे मेरे एयरटेल मोबाइल नंबर 9973030693 नंबर पर लगातार जान से मारने की धमकी देने के संदर्भ में।

महाशय,

निवेदन यह है कि मैं विनायक विजेता (उम्र 43 वर्ष) पेशे से पत्रकार हूँ तथा वर्तमान में पटना से प्रकाशित दैनिक ‘‘सन्मार्ग’’ में बतौर ‘विशेष संवाददाता’ कार्यरत हूँ। मेरा आवास गर्दनीबाग थाना अंतर्गत सी-87, पुलिस कॉलोनी, अनीसाबाद में हैं। बीते कई दिनों से लगातार मेरे मोबाईल नंबर 9973030693 पर 9334418981 के नंबर से मुझे जान मारने की धमकी से संबंधित लगातार एस.एम.एस. भेजा जा रहा है। जहाँ तक मुझे जानकारी मिली है कि यह नंबर छपरा के एकमा निवासी किसी सचिन मिश्रा के पास है, जिसने किसी दूसरे के नाम से यह मोबाइल ले रखा है।

घटना का कारण यह है कि सचिन इस नंबर से पत्रकार नगर थाना क्षेत्र के हनुमान नगर निवासी हमारी एक मुँहबोली बहन अमिता आयूषी के मोबाइल नंबर 93049–592 पर गंदे-गंदे और धमकी भरा मैसेज भेजा करता था, जिसकी शिकायत अमिता ने मुझसे की थी। तब 26 फरवरी 2013 को मैंने सचिन के नंबर 9334418981 पर फोन कर उसे ऐसा नहीं करने की सलाह दी तब भी उसने अपने को बाहुबली पूर्व सांसद शहाबुद्दीन और पूर्व मंत्री अवध बिहारी चौधरी का करीबी बताते हुए फोन पर ही मुझे भी बर्बाद करने की धमकी दी। इसके बाद भी जब वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आया तो मैंने शोसल नेटवर्किंग साईट ‘‘फेसबुक’’ पर मौजूद सचिन मिश्रा की तस्वीर के साथ ‘फेसबुक’ पर उसकी हरकतों को उजागर करते हुए ‘फेसबुक’ के मित्रों से आग्रह किया कि ऐसे गन्दे लोगों से सावधान रहें और बिना पूर्व परिचय के ‘फेसबुक’ पर किसी को मित्र न बनाएँ। 27 फरवरी 2013 को फेसबुक पर आए मेरे इस कमेंट पर काफी लोगों की प्रतिक्रिया आई थी।

28 फरवरी 2013 को 9204710611 नंबर से किसी जावेद आलम ने मेरे मोबाइल (9973030693) पर फोन किया और उसने अपने को सचिन मिश्रा का करीबी दोस्त बताते हुए उसकी हरकतों के लिए क्षमा मांगी और मुझसे बार-बार यह आग्रह किया कि मेरे द्वारा सचिन के बारे में ‘फेसबुक’ पर की गई टिप्पणी से उसकी बहुत बेइज्जती हो रही है और वह अपने कर्मों के लिए काफी शर्मिन्दा है। कथित जावेद आलम के द्वारा दिलाए गए भरोसे और सचिन द्वारा फिर से इस तरह का कृत्य नहीं किए जाने का विश्वास दिलाए जाने के बाद मैंने ‘‘फेसबुक’’ पर सचिन मिश्रा के खिलाफ लिखी गई टिप्पणी को हटा दिया। बीते 19 मार्च को आधी रात 1.33 बजे मुझे 9334418981 के नंबर से मेरे नंबर 9973030693 पर एक मैसेज आया जिसमें मुझे धमकी देते हुए लिखा गया था कि ‘‘लौंडिया को तो मैं बरबाद कर ही दूँगा तुम भी नहीं बच सकते। उसने मुझे जलील किया है ना ‘एफबी’ पर। बेकार में तुम फँस जाओगे। ये नंबर मेरे नाम से नहीं है कि केस करोगे।’’

इसके ठीक एक मिनट बाद यानि 1.34 बजे इसी नंबर से मुझे एक दूसरा मैसेज भेजा गया जिसमें फिर से धमकी देते हुए लिखा था कि ‘‘नंबर मेरे नाम से नहीं है, तुम मेरा कुछ नहीं उखाड़ सकते समझे। चाहे जितना नाचना कूदना है, नाच लो कूद लो। लौंडिया अब कुछ दिन की मेहमान है बेकार में तुम फंसोगे।’’ पुनः 20 मार्च को रात्रि 12.26 बजे 9334418981 नंबर से मेरे मोबाइल पर एक और धमकी भरा मैसेज भेजा गया जिसमें अपशब्द और गाली भरी भाषा का प्रयोग करते हुए लिखा गया था कि ‘‘मन तो है मेरा कि माद…… कि तुमको और उस लौंडिया दोनों को गोली से उड़ा दें रे माद………………….। तोरे कारण मेरा सब काम गड़बड़ा गया है, भो…..ड़ी वाले।’’ इस नंबर से पूर्व में भी कुछ और धमकियाँ मुझे मिली थी जिसमें मेरे शरीर पर तेजाब फेंकने की बात कही गयी थी जिसे मैं गंभीरता से न लेते हुए मिटा दिया था, पर जब पुनः 19 मार्च से लगातार धमकी भरा मैसेज आने लगा तो मैंने इसकी मौखिक सूचना वरीय पुलिस अधीक्षक एवं सिटी एस.पी. सहित पुलिस के अन्य वरीय अधिकारियों को दी और धमकी भरे मैसेज उन्हें फारवर्ड भी किया।

दिनांक 20 मार्च को माननीय सिटी एस.पी. ने फोन पर पूरी बात सुनने के बाद मुझे इस मामले में सम्बन्धित थाना में शिकायत दर्ज कराने को कहा। महोदय मैंने सचिन मिश्रा को जानने वाले कुछ लोगों से सम्पर्क किया तो मुझे पता चला कि उसने 21 नवम्बर 2011 को 9304107431 नंबर एलाट कराया है। रिलायन्स कम्पनी में उसके इस नंबर पर इसका पता सचिन कुमार मिश्रा सैदपुर एकमा, सारण है। मुझे यह भी पता चला है कि सचिन के पिता का नाम स्व0 नन्द किशोर मिश्रा है जिनके नाम पर उसने एक ट्रस्ट भी खोल रखा है। मुझे लगता है कि जिस जावेद आलम नाम के व्यक्ति ने 9204710611 के नंबर से मुझे फोन कर खुद को सचिन का मित्र बताया था वह जावेद आलम भी खुद सचिन ही है।

मान्यवर, मुझे जानकारी मिली है कि कथित सचिन की सोहबत अपराधियों के साथ है ऐसी स्थिति में उससे मेरी जान को खतरा है। आपसे निवेदन है कि सचिन कुमार मिश्रा पुत्र स्व0 नन्द किशोर मिश्रा, ग्राम- सैदपुर, एकमा, सारण के तीनों मोबाईल नंबर (9334418981, 9204710611 एवं 9304107431) की जाँच कर इस दिशा में अग्रतर कानूनी कारवाई करते हुए दोषी की पहचान कर उसे कड़ी सजा दिलाने की कृपा करें।

आपका विश्वासी

विनायक विजेता (पत्रकार)

पुत्र श्री ब्रजनंदन प्रसाद शर्मा
सी-87, पुलिस कॉलोनी,
अनीसाबाद, पटना।
मोबाइल नं0 9973030693, 9431006631

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *