पत्रकारों की समस्याओं को लेकर बैठे कई संगठनों में महासंघ बनाने पर सहमति

नई दिल्ली : मीडिया जगत में पत्रकारों एवं पत्रकारिता के साथ केंद्रीय सरकार एवं राज्य सरकारों द्वारा हो रहे दोगले व्यवहार से निपटने के लिये पत्रकार संगठन एकजुट हुए। बैठक में बीस से अधिक पत्रकार संगठनों के पदाधिकारियों ने शिरकत की, जिनमें समाचार पत्र प्रकाशक, श्रमजीवी पत्रकारों के संघ और समाचार चैनलों के एसोसिएशन ने भी एकजुटता के साथ एक महासंघ बनाने की बात पर सहमति जताई। पत्रकारों के इस महासंघ को अनेक गैर पत्रकारों संगठनों के अलावा डाक्टरों की अग्रणीय संस्था ‘इंडियन एसोसिएशन ऑफ पीडियाट्रिक सर्जन’ का भी पूर्ण समर्थन है। यह बैठक इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के सभागार में संपन्न हुई।

पिछले काफी समय से पत्रकारिता जगत् में श्रमजीवियों, समाचार पत्र प्रकाशकों और समाचार चैनलों में केंद्रीय और राज्य-सरकारों की मीडिया विरोधी नीतियों के खिलाफ असंतोष व्याप्त है। इस असंतोष को समाप्त करने के लिये और एकजुटकता से सरकार के समक्ष अपनी मांगों का पक्ष रखने के लिए बैठक् हुई। इस बैठक में 20 से अधिक पत्रकार संगठनों ने हिस्सा लिया औश्र एक महासंघ बनाने पर सहमति हुई, जिनमें सात सदस्यीय सुप्रीम कोर्ठ कमेटी और वरिष्ठ पत्रकारों की सात सदस्यीय सलाहकार समिति बनाना तय हुआ। इस महासंघ में जल्द ही देश के तमाम छोटे-बड़े पत्रकार संगठनों को महासंघ के बारे में अवगत कराके शामिल किया जायेगा।

यह महासंघ विशुद्ध रूप से सिर्फ पत्रकारों एवं पत्रकारिता के हितार्थ एवं सहायतार्थ कार्य करेगा। महासंघ के गठन के मौके पर मीडिया फेडरेशन ऑफ इंडिया से जुड़े तमाम संगठनों के द्वारा, जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ इंडिया से श्री एच.के.सेठी, ऑफ इंडिया न्यूजपेपर सोसायटी से डा.आर.एल. गुप्ता, पॉलिटिकल भारत न्यूजपेपर से श्रीमति सीमा , न्यूज चैनल एसोसिएशन से श्री सुरेश चव्हानके, क्राइम वरियस से श्री संदीप चौहान, भारतीय दलित साहित्य अकादमी से डा. सोहनपाल सोनाक्षर, स्माल एंड मीडियम न्यूजपेपर एसोसिएशन ऑफ हरियाणा के श्री जी.सी.शर्मा, लीड इंडिया पब्लिशर्स एसो. से श्री सुभाष सिंह, न्यूजपेपर एसो. ऑफ इंडिया से श्री नितिन गौर, न्यूजप्रिंट मेन्यूफेक्चरर एसो. से श्री अनिस माहेश्वरी, यूनिटिंगि मीडिया ग्रुप से श्री काफिल अंसारी, राजधानी पत्रकार मंच से श्री विजय शर्मा उपस्थित थे। इसके अलावा डॉक्टरों की अग्रणी संस्था इंडियन एसो. ऑफ पीडियाट्रिक का भी समर्थन है। इसके पदाधिकारी सीनियर सर्जन, मौलाना आजाद, कॉलेज के डा. सतीश कुमार अग्रवाल, डा. अंजू गंभीर, डा. सिम्मी रतन ने पत्रकारों को शल्य चिकित्सा के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी और पत्रकारों को समर्थन दिया।

प्रेस रिलीज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *