पत्रिका अखबार में प्रकाशित हुई भास्कर के पत्रकारों की करतूत, ब्यूरो चीफ हटाए गए

राजस्थान पत्रिका, उदयपुर के दस जून 2012 के अंक में पेज आठ पर एक समाचार में दैनिक भास्कर राजसमंद के ब्यूरो चीफ व एडिटोरियल के लोगों की कारगुजारी सामने आई है। पुलिस में मामला दर्ज हुआ है। पत्रिका ने प्रमुखता से खबर छापी है। इस घटनाक्रम के बाद उदयपुर भास्कर से रिपोर्टर नरेन्द्र पुरबिया को ब्यूरो चीफ राजसमन्द बनाया गया है. पत्रिका अखबार में प्रकाशित खबर इस प्रकार है-

कुंभलगढ़ में पत्रकारों का उत्पात

कुंभलगढ़। यहां दुर्ग मार्ग स्थित होटल में शुक्रवार देर रात एक राज्य स्तरीय दैनिक समाचार पत्र (राजस्थान पत्रिका नहीं) के ब्यूरो चीफ समेत अन्य पत्रकारों ने शराब पीने के बाद नॉनवेज नहीं परोसने पर गाली-गलौच कर जमकर हंगामा मचाया। तोड़-फोड़ कर होटल प्रबंधन को डराया-धमकाया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने समझाइश की कोशिश की, तो वह भी विफल रही। पुलिस ने पांच को गिरफ्तार कर जमानत पर छोड़ दिया, जबकि राजसमंद ब्यूरो चीफ सहित तीन की उनको तलाश है।

थानाधिकारी देवकिशन शर्मा ने बताया कि होटल "द डेरा" के प्रबंधक जमनाशंकर आमेटा ने आठ जनों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। इसमें बताया कि रात करीब नौ बजे समाचार पत्र का स्थानीय संवाददाता अशोक सोनी अपने साथ आठ लोगों को लेकर आया। उनका परिचय ब्यूरो चीफ योगेश आर्य, राजेन्द्र नायक, नरेन्द्रसिंह शेखावत, गोपाललाल पालीवाल, दिलीप पालीवाल, गणपतसिंह, दिनेश शर्मा व चालक राधेश्याम भाट के रूप में करवाश और खाना खिलाने का आग्रह किया।

रेस्टोरेंट में जगह नहीं होने पर वे लॉन में बैठने को राजी हो गए। आमेटा के मुताबिक वे अपने साथ लाई शराब व अन्य वस्तुओं का सेवन करने लगे। उन्होंने नॉनवेज की मांग की तो प्रबंधक ने बाहर से मंगवाने का इंतजाम करवा दिया। देर रात वे रेस्टोरेट में पहुंचे तो फिर नॉनवेज मांगा। समय देख कर आमेटा ने इनकार किया तो उन्होंने गाली-गलौच कर तोड़-फोड़ की। वहां मौजूद मेहमान डर कर कक्षों में चले गए।

प्रबंधक ने पुलिस को सूचित किया। थानाधिकारी वहां आए तो उनसे भी अभद्रता की। उन्होंने मेडिकल करवाने को कहा तो वह गाड़ी से भाग निकले। उन्हें नाकाबंदी कर थाने के बाहर रोका गया। इस दौरान योगेश, राजेन्द्र व दिनेश अंधेरे में भाग निकले। पुलिस ने चालक का मेडिकल करा उसे गिरफ्तार किया। पुलिस ने राजसमंद पार्षद के भाई की गाड़ी जब्त की। आरोपियों के खिलाफ बलवा, अनधिकृत प्रवेश, गाली-गलौच व तोड़-फोड़ का मामला दर्ज किया।  राहुल कोटकी, पुलिस अधीक्षक राजसमन्द का कहना है कि कुंभलगढ़ की होटल में कुछ पत्रकारों ने तोड-फोड़ की और शराब के नशे में हंगामा मचाया। मामले में चालक को गिरफ्तार किया है, बाकी की तलाश जारी है। कानून सबके लिए समान है, किसी को बख्शा नहीं जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *