पाकिस्‍तानी मजिस्‍द में चोरी कर भागा, भारत में पकड़ा गया

बाड़मेर सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने बीते बुधवार को पाक सीमा पर एक पाकिस्तान नागरिक को गिरफ्तार किया। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक पकड़ा गया पाकिस्तान नागरिक खुद को चोर बता रहा है और चोरी की वारदात के बाद पकड़े जाने के डर से भागता हुआ अंतरराष्ट्रीय सीमा पार कर भारत में आ गया, जहां उसे सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पकड़ लिया। सुरक्षा एजेंसियां उससे कड़ी पूछताछ कर रही है।

सीमा सुरक्षा बल के अधिकारियों ने इस घटना के बारे में पाकिस्तान रेंजरों को भी सूचित कर दिया, लेकिन अब तक पाकिस्तान अधिकारियों की ओर से कोई जवाब नहीं आया है। सीमा सुरक्षा बल बाड़मेर उप महानिरीक्षक माधोसिंह चौहान ने बताया कि सीमा सुरक्षा बल की 171वीं वाहिनी के जवानों ने 17 अप्रैल को सुबह साढ़े नौ बजे भारतीय सीमा में कलर का पार गांव के पास बॉर्डर पिलर संख्या 873 पर तारबंदी पार करते हुए एक पाकिस्तानी नागरिक को पकड़ा। पकड़े गए पाकिस्तानी नागरिक की पहचान खुदाबक्श पुत्र मोम दीन खान निवासी अहमद का पार, पुलिस स्टेशन खींवसर, तहसील छाछरों, जिला मीठी प्रांत सिंध के नाम से हुई है।

चौहान ने बताया कि खुदाबक्श के पास से 740 रुपए की पाकिस्तान मुद्रा, माचिस के तीन पैकेट, बीड़ी के चार पैकेट, एक किलो चावल और पाकिस्तानी सुपारी एक एक पैकेट बरामद किया गया है। सूत्रों ने बताया कि पकड़ा गया पाकिस्तानी नागरिक भारतीय सीमा से डेढ़ किलोमीटर दूर पाकिस्तान के जाहिलों गांव में 16 अप्रैल की रात को एक मस्जिद में चोरी करने की बात कह रहा है। उसने सुरक्षा एजेंसियों को बताया कि चोरी की वारदात के दौरान गांव वालों ने उसे देख लिया और उसे पकडऩे की कोशिश की। पकड़े जाने के डर से वह भागने लगा और भागते-भागते भारतीय सीमा में घुस आया और पकड़ा गया। हालांकि सुरक्षा एजेंसियों को खुदाबक्श की कहानी पर विश्वास नहीं हो रहा है और उससे पूछताछ की जा रही है।

– बीएसएफ के जवानों ने 17 अप्रैल को तारबंदी पार कर भारतीय सीमा में घुसने की कोशिश कर रहे एक पाकिस्तानी नागरिक को पकड़ा है। पूछताछ के दौरान उसने अपना नाम खुदाबक्श बताया है। उसके पास से कुछ पाकिस्तानी मुद्रा और अन्य सामान बरामद किया गया है। उससे एजेंसियों द्वारा पूछताछ की जा रही है। – माधोसिंह चौहान, उप महानिरीक्षक सीमा सुरक्षा बल बाड़मेर

बाड़मेर से चंदन सिंह भाटी की रिपोर्ट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *