बड़ी गैबी में बहुत छोटा घर है पंडित छन्नूलाल मिश्रा का

Sanjay Tiwari : इस जगह का नाम छोटी गैबी क्यों है, पता नहीं लेकिन पंडित छन्नूलाल मिश्रा का घर है बहुत छोटा. संकरी सी गली, छोटा सा मकान और मकान के भीतर घुसते ही बायें हाथ पर छोटा कमरा. जमीन पर ही बिस्तर और बिस्तर ही बैठका. बिस्तर ही आसन बिस्तर ही शयन.

 पं. रविशंकर अगर बनारस में ही रह गये होते तो शायद वे भी इसी तरह किसी गली के मकान में जमीन पर सजे आसन पर बैठकर संगीत साधना कर रहे होते. लेकिन दस साल की उम्र में ही उन्होंने बनारस छोड़ दिया और वैश्विक हो गये. पंडित जी के निधन पर पंडित जी ने कहा अब ऐसा सितारवादक नहीं आयेगा.

संजय तिवारी के फेसबुक वॉल से साभार.


पंडित छन्नूलाल जी के गाने का आनंद लेने के लिए नीचे आडियो प्लेयर पर क्लिक करें…

na sona kaam aayega na chandi…

khele masaane mei hori digambar…

kuhu kuhu bole le koyaliya re rama…

more pichhwarwa chandan gaachhe…

 


(सुनें)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *