बदहाल नई दुनिया : सरकारी विज्ञापन में छाप दी गई गालियां

नईदुनिया को जागरण समूह द्वारा टेक ओवर करने के बाद कर्मचारियों की हालत खराब हो गई है. यह इसी बात से समझा जा सकता है कि प्रबंधन से नाराजगी और फ्रस्‍ट्रेशन में ऑपरेटर ने सरकारी विज्ञापन के नियम एवं शर्तें कॉलम में गालियां टाइप कर दी. मजा यह कि प्रूफ रीडर ने भी उसे नहीं पकड़ा और ओके कर दिया. नतीजतन सरकारी विज्ञापन गालियों सहित छप भी गया. इन गालियों को नईदुनिया के रायपुर एडिशन के सोलह जुलाई के अखबार के पांच नम्‍बर पेज पर आसानी से देखा जा सकता है. इसके बाद से ही समूह और अखबार की थू थू हो रही है.

16 जुलाई के अंक में गाली प्रकाशित होने के बाद प्रबंधन ने इस विज्ञापन को फिर से 17 जुलाई के अपने अंक में प्रकाशित किया है. यह महज एक गलती नहीं है बल्कि जिस तरह से इसको लिखा गया है उससे साफ लग रहा है कि नई दुनिया के हालत काफी खराब हैं और कर्मचारियों में जबर्दस्‍त रोष है पर वो इसे व्‍यक्‍त नहीं कर पा रहे हैं. और गालियों के सहारे ही अपना रोष और गुस्‍सा व्‍यक्‍त कर रहे हैं और निकाल रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *