बनारस में पत्रकार सुशील त्रिपाठी को पुण्य तिथि पर याद किया गया

वाराणसी। विशाल भारत संस्थान की ओर से पत्रकार स्व. सुशील त्रिपाठी की पुण्य तिथि मैत्री भवन में स्मृति दिवस के रूप में मनाई गई। इस मौके पर ''द ओरिजनल ट्रायल बाई मीडिया'' विषयक संगोष्ठी हुई, जिसमें वक्ताओं ने कहा कि सुशील निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता के प्रतीक थे। वक्ताओं ने उन्हें आधुनिक कबीर की उपाधि से नवाजा। मुख्य अतिथि भेल के महाप्रबंधक हरिप्रिय चौधरी ने कहा कि आज के हालात देखकर लगता है कि मीडिया नहीं होता तो देश का क्या होता। मीडिया ने कई ऐसे ट्रायल किए जिसे सरकार को संज्ञान में लेना पड़ा।

वरिष्ठ पत्रकार अनिल भाष्कर ने कहा कि भय, भ्रांतियां और भ्रष्टाचार से पत्रकार को बचना होगा। सुशील इन सभी से दूर होकर पत्रकारिता के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाई है। अध्यक्षता करते हुए पूर्व केंद्रीय सूचना आयुक्त डा. ओपी केजरीवाल ने कहा कि मीडिया की वजह से कई राजनीतिज्ञों के काले कारनामे सामने आए हैं। इस मौके पर गरीब बच्चों, महिलाओं एवं उपेक्षितों की आवाज उठाने के लिए पत्रकार हेमंत श्रीवास्तव और वीणा तिवारी को सुशील त्रिपाठी स्मृति राष्ट्रीय पत्रकारिता पुरस्कार से सम्मानित किया गया। संचालन संस्था के अध्यक्ष डा. राजीव श्रीवास्तव ने किया। कार्यक्रम में अनीता चौधरी, हिमांशु उपाध्याय, प्रो. लक्ष्मण राय, आत्मा प्रकाश सिंह, अर्चना भारतवंशी, नजमा नाजनीन एवं धनंजय यादव आदि शामिल थे।
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *