बाफ्टा के लिए नामित होने के बाद दिल्ली के तीन छात्र अपनी लघु फिल्में लंदन जाकर दिखाएंगे

दिल्ली के छात्रों द्वारा तैयार की गई तीन लघु फिल्मों को ब्रिटिश फिल्म एवं टेलीविजन अकादमी पुरस्कार (बाफ्टा) के लिए नामित किया गया है। पुरस्कार का आयोजन करने वाली संस्था टोनी ब्लेयर फेथ फाउंडेशन ने घोषणा की कि दिल्ली की इशिता गुप्ता (14), मुदित मुराका (15) और सुजीत रॉय (17) और 12 अन्य छात्रों को लंदन जाकर पुरस्कार समारोह में अपनी फिल्म दिखाने का मौका मिलेगा। इस श्रेणी में नामित होने के लिए फिल्मकारों को तीन मिनट की फिल्म दिखाने के लिए कहा गया था जिसमें वह दिखा सकें कि 'मेरा विश्वास मुझे कैसे प्रेरित करता है।'

इसके निर्णायक मंडल में पूर्व ब्रिटिश प्रधानमंत्री टोनी ब्लेयर, हॉलीवुड अभिनेता हुग जैकमैन और जेट ली समेत बॉलीवुड अभिनेता अनिल कपूर शामिल थे। इशिता गुप्ता की फिल्म 'कनेक्टिंग कर्ल्चस' में दिखाया गया है कि मानवता दुनिया को एकजुट करने वाली ताकत है। इशिता की फिल्म को 14-17 वर्ष की श्रेणी में शामिल किया गया है।

साथ ही मुदित मुराका की फिल्म 'द मिरर' में आज के युवा पर बढ़ते सामाजिक दबाव को दिखाया गया है। वहीं सुजीत की फिल्म 'अनसाइटेड फेथ' में एक शिक्षक और छात्र के बीच पनपते रिश्ते को दिखाया गया है। प्रतियोगिता के लिए दुनियाभर के विभिन्न देशों से 100 से अधिक प्रविष्टयां शामिल हुई थीं, जिनमें से केवल 15 लघु फिल्मों को चयनित किया गया है।

पुरस्कार के तहत विजेताओं को बाफ्टा के आयोजन स्थल 195 पिकाडली में वीआईपी पुरस्कार में शरीक होने के लिए लंदन तक का मुफ्त सफर मिलेगा । इसके साथ ही 18-27 वर्ष की श्रेणी में विजेताओं को मशहूर पेशेवर कलाकारों के साथ फिल्म शूट करने का मौका भी मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *