ब्रिटिश मीडिया रेग्‍यूलेट ने सिख चैनल पर तीस हजार पाउंड का जुर्माना लगाया

लंदन : ब्रिटेन की मीडिया रेग्युलेट ने भारतीय सेना के सदस्यों के खिलाफ सिख समुदाय के भीतर हिंसा को भड़काने का प्रयास करने वाले एक कार्यक्रम का प्रसारण कर कार्यक्रम संहिता का ‘गंभीर’ उल्लंघन करने के मामले में एक सिख टीवी चैनल पर 30,000 पाउंड का भारी-भरकम जुर्माना लगाया है. बर्मिंघम से संचालित होने वाले और पंजाबी तथा अंग्रेजी भाषा में प्रसारण करने वाले सेटेलाइट चैनल संगत टीवी को कार्यक्रम का प्रसारण करके ऑफकॉम की कार्यक्रम संहिता का उल्लंघन करने के मामले में जुर्माना अदा करना होगा.

कार्यक्रम में सिखों को लेफ्टिनेंट जनरल के एस बरार तथा भारतीय सशस्त्र बलों के अन्य सदस्यों के खिलाफ हिंसक कार्रवाई के लिए भड़काया गया. साल 1984 में अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में सिख अलगाववादियों के खिलाफ भारतीय सेना के ऑपरेशन ब्लू स्टार का नेतृत्व करने वाले लेफ्टिनेंट जनरल बरार पर यहां हमले के बाद पिछले साल अक्‍टूबर में परिचर्चा कार्यक्रम का प्रसारण किया गया था.

कार्यक्रम में भाग लेने वाले कुछ विशेषज्ञों ने कहा कि बरार पर हमला होना चाहिए था और इसके लिए हमलावर बधाई के पात्र हैं. सितंबर, 2012 में यहां सेना के सेवानिवृत्त अधिकारी 78 वर्षीय बरार को गंभीर रूप से शारीरिक नुकसान पहुंचाने के मामले में पिछले महीने सिख मूल के तीन पुरषों और एक महिला को दोषी ठहराया गया है. ऑफकॉम ने कहा कि रेजिस 1 लिमिटेड नामक कंपनी द्वारा संचालित संगत टीवी ने हमले के बाद एक कार्यक्रम के तहत बयान प्रसारित किये थे. (भाषा)
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *