”भाई को बहुत मारा और मुझे जनता टीवी की शिकायत वापस लेने को कहा”

दोस्तों नमस्कार, आप सभी के आशीर्वाद से मैं बच गया. अब मैं आप को अपनी आप बीती बताता हूं कि जनता टीवी ने मेरे साथ क्या-क्या खेल खेला. दोस्तों मैंने सिर्फ जनता टीवी से अपने काम के पैसे मांगे, मगर जनता टीवी के मालिक गुरबिंदर व उनके तेजतर्रार इंप्लाई थानेश्वर ने मुझे इतना मजबूर कर दिया कि मैं आत्‍म हत्या कर लूं. जनता टीवी के मालिक गुरबिंदर ने १ जनवरी को सीआईए २ को मेरे घर भेजा, जो मेरे भाई पवन जोगी को जबरदस्‍ती उठा कर ले गए और ३ जनवरी को मेरे भाई के खिलाफ चोरी का मुकदमा कर दिया.

मेरे भाई को बहुत मारा और मुझे मजबूर किया कि मैं जनता टीवी के खिलाफ दी गई शिकायतों को वापस ले लूं. शिकायत वापस लेने को कहने के साथ १ लाख की मांग की. मैंने हाई कोर्ट में केस डाल दिया तो फिर मुझे एनकाउंटर की धमकियां मिलने लगीं. मैंने मजबूर होकर हालत के सामने घुटने टेक दिए और आत्‍महत्या करने की कोशिश की मगर आप लोगों के प्यार ने मुझे नया जीवन दिया. फिर मैंने करनाल सीआईए २ के इंचार्ज मनोज वर्मा की एक लाख रुपये की मांग करते हुए रिकोर्डिंग की. कानून तथा रिकार्डिंग का सहारा ले कर उन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की मगर कहीं कुछ नहीं हुआ. उस के बाद मैंने मानव अधिकार आयोग की शरण ली, जिसमें जनता टीवी व अन्य के खिलाफ केस रजिस्टर हो गया है.

केस रजिस्‍टर होने के बाद खुद को फंसता देख जनता टीवी व तेजतर्रार थानेश्वर ने दिल्ली से आरपीएफ को भेज कर मेरे पिता जिनकी उम्र ६४ साल है, के खिलाफ भी रेल लाइन चोरी का झूठा मुकदमा दर्ज कर दिया. अब फिर कोई नया हथकंडा आजमाने की कोशिश कर रहे हैं. आज मुझे धमकी मिली है कि अब वे मुझे भी किसी केस में फंसवाएंगे. पता नहीं जनता टीवी और कितना नीचे जाएगा. आप अब देखना जनता टीवी क्‍या-क्‍या खेल खेलता है.

आपका अपना

मयंक जोगी

8295556660

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *