भोपाल के पत्रकार आदेश प्रताप सिंह भदौरिया को टारगेट कर मारी थी गोली

भोपाल : राजधानी पुलिस के हत्थे चढ़े राजेश उपाध्याय उर्फ बब्बू ने स्वीकार किया कि उसने पत्रकार आदेश प्रताप सिंह भदौरिया को टारगेट कर गोली मारी थी। उसने कहा कि दुर्भाग्य से यह गोली सुनील काने उर्फ सन्नी को लग गई। राजेश ने कहा कि गोली थाने में भाई के साथ हुई मारपीट का बदला लेने के इरादे से चलाई थी। राजेश ने यह खुलासा पुलिस की पूछताछ में किया है। राजेश टीटी नगर पुलिस की हिरासत में है।

शुक्रवार-शनिवार की दरमियानी रात अपने एक दोस्त के साथ राजेश ने सन्नी और आदेश को गोली मार दी थी। गोली तब चलाई थी, जब दोनों कार में बैठे हुए थे। हमले में सन्नी की मौत हो गई थी, जबकि आदेश को गंभीर हालत में नर्मदा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आदेश का इलाज चल रहा है। डाक्टरों का कहना है कि आदेश की हालत पहले से बेहतर है। पुलिस ने हत्या के बाद फरार हुए राजेश को हिरासत में ले लिया है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। राजेश के साथी का पता नहीं है।

पुलिस की पूछताछ में राजेश ने वारदात में किसी साथी के होने से इनकार किया है। उसका कहना है कि गोली मारने के वक्त वह अकेला था। राजेश का बड़ा भाई अंबरीश उपाध्याय भोपाल पुलिस लाइन में पदस्थ है। वह ड्राइवर है। राजेश ने कहा कि करीब ढाई महीने पहले आदेश के छोटे भाई आवेश सिंह के ड्राइवर से मेरे भाई का विवाद हो गया था। विवाद गाड़ी चलाते वक्त हुआ था। विवाद के बाद अंबरीश उसे टीटी नगर थाने लेकर गया था। थाने में पीछे से आवेश और कुछ लोग पहुंच गए थे। बातचीत के दौरान आवेश ने अंबरीश को थाने में थप्पड़ मार दिया था। इससे राजेश नाराज हो गया था। इसी का बदला लेने के लिए राजेश ने गोली चलाई है।

मूल खबर:

भोपाल में पत्रकार पर गोली चली, घायल, साथी की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *