मधुबनी मामले में हिन्दुस्तान के जिला प्रभारी की छुट्टी

Kumud Singh : मधुवनी मामले में एसपी, डीएम, आईजी के बाद अब हिन्दुस्तान के जिला प्रभारी की छुट्टी हो गयी है। इन पर आरोप था कि ये खबरों के माध्यम से मधुवनी को जलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा चुके हैं। हिन्दुस्तान ने इसके लिए जांच टीम गठित की थी जिसमें प्रभारी पर लगे आरोपों की पुष्टि हो गयी। इन्होंने ही पहले पहल यह खबर चलायी थी कि अज्ञात लाश प्रशांत जैसा दिखता है। बिहार की पत्रकारिता में शुचिता का समय आ गया है। 20 साल से चला आ रहा ''खून बिकता है'' का सिद्धांत अब अपने खात्‍मे पर है। बधाई हो।

    Haresh Kumar छोटे लोगों की बलि चढ़ाकर बड़े बकरे बच जाते हैं हमेशा
 
    Kumud Singh बडे बकरे तो बिहार के अभी हुए ही नहीं। हिंदुस्‍तान प्रबंधन बिहारियों को पटना में संपादक बनाने योग्‍य आज तक नहीं समझा है।
 
    Haresh Kumar सब मार्केटिंग का कमाल है। यहां चापलूसों की पूछ होती है
   
    Kumud Singh पत्रकारों का चरित्र अब किसी से छुपा हुआ नहीं है। जिसे निकाला गया है उनका रोल पूरा मधुबनी देख चुका है।
    
    Ratneshwar Jha purn sahmat chhi,varan jaagaram aa hindustan dunu ke north bihar sa prakashan band bha jay, mithilak badd paigh upkar hoyat
     
    Bishnu Kumar Gupta यह, आज की बात नहीँ है. मनीष जी की इसमेँ कोई गलती नहीँ थी, समय का दोष है. किन्तु पत्रकारोँ के प्रति सोसल मीडिया पर इस प्रकार की कोई टिप्पणी नहीँ होनी चाहिए! चाहेँ मैँ भी एक संपादक क्योँ नहीँ , काल के सामने कुछ भी संभव है.
     
    Kumud Singh यह बात जांच दल को बताइए, हम जांच दल के सदस्‍य नहीं हैं।
     
    Ajay Kumar ji nahi mamla kooch aur hai, bali ka bakra to hamesha chootee aadami ko banana parta hai,
     
    Kumud Singh बलि का बकरा कौन बना इसपर हमें कुछ नहीं कहना, लेकिन जो हुआ वो अच्‍छा हुआ। खून बेचने का धंधा बंद होना चाहिए।
     
    Bishnu Kumar Gupta गलतियाँ तो हम आप ही करते हैं , जो गलती न करेँ, उन्हेँ मानव नहीँ, जानवर कहा गया है.
     
    Kumud Singh गुप्‍त जी, मेरे वाल पर वकालत न करें, उसके लिए जांच दल के पास जाएं। हो अगर मैंने जांच दल की रिपोर्ट या कार्रवाई की गलत सूचना दी है तो बताएं।
     
    Lovely Kumar Neutral Thought Bahut achha hua. Patrakaron ko Ab sochna hoga ki unki bhi samajik souhaard ki jimmewari banti hai.
     
    Awesh Tiwari कुमुद जी को हिंदुस्तान पटना का सम्पादक बना देना चाहिए
     
    Vipin Kumar हिन्दुस्तान के दरभंगा जिला प्रभारी की छुट्टी भी होनी थी ये बच गये क्या कोइ खबर है इस बारे में ।
     
    Kumud Singh दरभंगा में तो रवि जी प्रभारी हैं, वहां स्‍थायी नियुक्ति है ही नहीं।
     
    Kumud Singh तिवारी जी, आपने शायद आर्यावर्त और इंडियन नेशन का नाम नहीं सुना है वर्ना ऐसी बात नहीं करते।
     
    Bishnu Kumar Gupta एचटी मीडिया एडवेँचर्स लिमिटेड के वैसे जाँच दल को अपने ही पैर पर कुल्हाड़ी चलाने के लिए साधुवाद !
     
    Lovely Kumar Neutral Thought All irresponsible journalist should be kicked out
     
    Awesh Tiwari Kumud Singh हम जानते हैं न उनके पास इतना साहस है किसी विशुद्ध पत्रकार को सम्पादक बना सके, न ही बिहार की जनता की नब्ज को समझने की तमीज है |मीडिया पुरुषवादी है ये कहने में गुरेज नहीं आप चाहें भी तो आपको या अन्य किसी महिला को तमाम योग्यताओं के बावजूद सम्पादक नहीं बनाएगा |जिला प्रभारियों के हटने पर ख़ुशी जाहिर मत करिए, मीडिया हाउस का चरित्र पुराना है ,वैसा ही रहेगा
     
    Kumud Singh मैं आपसे सहमत हूं तिवारी जी। इसी लिए आर्यावर्त का नाम लिया। हमारा खानदान संपादक रखता था, उससे पैसा का जुगाड नहीं करबाता था। आज संपादक मुख्‍यमंत्री से समय लेने के लिए कतार में दिखते हैं, इंडियन नेशन के संपादक से मुख्‍यमंत्री समय मांगते थे। उस काल को अब कौन दोहराएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *