मासिक पत्रिका ‘सुजाता’ का प्रकाशन मेरठ से प्रारंभ

देश की महिला मासिक पत्रिकाओं के बीच एक नाम और जुड़ गया है-सुजाता। लंबे समय से पत्रकारिता में जुड़ी रहीं ऋचा जोशी ने मेरठ से हिंदी मासिक 'सुजाता' का प्रकाशन प्रारंभ किया है। 'अपनी सी कहे-अपनी सी लगे' स्‍लोगन के साथ महिलाओं की ये पत्रिका बाजार में पंहुच रही है और इसे आंशिक तौर पर www.sujataonline.com पर भी पढ़ा-देखा जा सकता है। दस रुपये मूल्‍य की ये पत्रिका छपाई और कागज की गुणवत्‍ता के साथ स्‍तरीय रचनाओं से सबको आकर्षित करती है।
 
'सुजाता' के प्रकाशन का सपना जुझारु पत्रकार रहे स्‍व. वेद अग्रवाल ने 1959 में देखा था। उसके बाद ये पत्रिका पाठकों तक पहंची और लोकप्रिय भी हुई लेकिन स्‍व. वेद अग्रवाल की लंबी बीमारी के बाद स्‍वर्गवास हो जाने के बाद से इसका प्रकाशन स्‍थगित था। अब ऋचा जोशी ने इसे फिर से पाठकों तक पहंचाने का बीड़ा उठाया है। ऋचा लंबे समय तक प्रिंट और इलेक्‍ट्रॉनिक माध्‍यमों के लिए पत्रकारिता करती रहीं हैं और इन दिनों वह महिलाओं के संगठन 'उत्‍तर प्रदेशीय महिला मंच' की महासचिव हैं। महिला सरोकारों से जमीनी स्‍तर तक जुड़ी ऋचा जोशी इस पत्रिका को आमजन तक पहंचाने और लोकप्रिय बनाने के लिए प्रयत्‍नशील हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *