मुझसे बात करने वाले सभी हिंदू मुझे सीधे या परोक्ष रूप से मोदी की वकालत करते मिले

Sheetal P Singh : TV खोला । आजतक राशिफल बता रहा था । Zee पर वे थे जो जिन्दलों से २० के १०० माँगने में ख़ुद TV पर थे । भागा NDTV पर , उमाशंकर stone face मुद्रा में "MODI" के प्रधान मंत्रित्व की उम्मीद वारी का चिर परिचित वृत्तांत दोहराते मिले । मैंने रिमोट पोती को थमाया ही था कि भल्ला का फ़ोन घनघनाया । भोर ही भोर । भल्ला पक्के कंग्रेसी रहे हैं । २५० साल से दिल्ली में ज्ञात इतिहास वाले ख़ानदानी अतीत के खत्री ।

हालचाल के बाद भल्ला सीधे मोदी पर जा पहुँचे । विधान सभा में 'आप' को लोकसभा में 'बाप' को । सिर्फ इसलिये कि मैं मोदी को लेकर फैलाये गये प्रचार का आलोचक हूँ। उनकी क़िस्म की राजनीति से पूर्णतया असहमत हूँ। ऐसा दर्ज नहीं कर सकता जो उससे उलट हो जो मेरे आस पास अगल बगल या सीधे मुझसे कहा सुना जा रहा है/हो । आपका अनुभव अलग हो सकता है पर मुझसे बात करने वाले सभी "हिन्दू" मुझे सीधे या परोक्ष रूप से मोदी की वकालत करते मिले । गूजर जाट सिक्ख अहीर बामन राजपूत सभी । हाँ दलितों के और कुछ अति पिछड़ों की प्रतिक्रिया साफ़ न मिली । मुझे लग रहा है कि उत्तर भारत में हिन्दुओं के अन्दर एक churning चल रही है जो मोदी के पक्ष में है और मुज़फ़्फ़रनगर जैसी घटना़यें तो इसमें catalyst की भूमिका निभा रही हैं ।

वरिष्ठ पत्रकार शीतल पी सिंह के एफबी वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *