मुफ्त इलाज संबंधी शासनादेश जारी होने पर लखनऊ के पत्रकार नेताओं ने आभार जताया

उत्तर प्रदेश राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति ने मान्यता प्राप्त पत्रकारों के संजय गांधी पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीटूयूट आफ मेंडिकल साइंसेज (एसजीपीजीआई) में मुफ्त इलाज संबंधी शासनादेश जारी होने पर सरकार के प्रति आभार जताया है। समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी ने आज जारी बयान में कहा कि इस शासनादेश के जारी होने से पत्रकारों की लंबे समय से चली आ रही मांग पूरी हुयी है।

उन्होंने कहा कि फिलहाल उक्त सुविधा का लाभ केवल राज्य मुख्यालय पर मान्यता प्राप्त पत्रकारों को ही मिलेगा पर जल्दी इसमें पत्रकारों के परिजनों को भी शामिल किया जाएगा। समिति ने इस आशय का एक पत्र प्रमुख सचिव सूचना को दिया है। उन्होंने कहा कि इस बारे में सकारात्मक बातचीत हो रही है और जल्दी ही पत्रकारों के परिजनों को इसमें शामिल किया जाएगा।

समिति के सचिव सिद्धार्थ कलहंस ने बताया कि हाल ही में समिति के एक प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री व प्रमुख सचिव सूचना से मुलाकात कर उनसे शासनादेश जल्दी जारी कराने को कहा था। उक्त प्रतिनिधिमंडल ने प्रमुख सचिव सूचना से हाल में पत्रकारों को आवंटित हुए सरकारी आवासों के आवंटन की अवधि को एक साल के बजाय पांच साल करने, विराज खंड स्थित पत्रकार पुरम योजना के भूखंडों के विक्रय पर लगी रोक की सीमा को घटा कर 15 साल किए जाने की भी मांग रखी थी। प्रतिनिधि मंडल में समिति के उपाध्यक्ष सत्यवीर सिंह, नरेंद्र श्रीवास्तव, सचिव सिद्धार्थ कलहंस, संयुक्त सचिव राजेश शुक्ला, कोषाध्यक्ष नीरज श्रीवास्तव, कार्यकारिणी सदस्य श्रीधर अग्निहोत्री आदि शामिल थे।

प्रेस विज्ञप्ति
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *