मेरे हटने से बीबीसी जैसी महान संस्था पर कोई फर्क नही पड़ेगा : राम दत्त त्रिपाठी

Ram Dutt Tripathi : आप सब मित्रों ने मेरे बीबीसी छोड़ने पर जो उदगार व्यक्त किये हैं, इनके लिए मैं आप सबके प्रति ह्रदय से कृतज्ञता ज्ञापित करता हूँ. यही मेरी संचित पूँजी है. क्यों छोड़ा बीबीसी? इतना ही कहूँगा कि बीबीसी जनता के पैसे से जनता के लिए चलने वाली विश्व की एक अद्वितीय और महान संस्था है.

मुझे गर्व है कि इस संस्था के माध्यम से लोक सेवा पत्रकारिता का अवसर मिला. यह रिटायरमेंट नहीं है, क्योंकि बीबीसी में रिटायरमेंट की उम्र पैंसठ साल है. (वैसे भी पत्रकार कभी भी रिटायर नही होता.) लेकिन कुछ समय से हिंदी सेवा में समाचार संकलन की जो नयी व्यवस्था बन रही है और विषय वस्तु में जो बदलाव आ रहा है, उसको लेकर मेरी असहमति चल रही थी, और मैंने अपने को अलग करना ही बेहतर समझा. मेरे हटने से बीबीसी जैसी महान संस्था पर कोई फर्क नही पड़ेगा. भविष्य के लिए अभी तक कोई योजना नही है. स्वतंत्र पत्रकार के रूप में काम करूँगा.

वरिष्ठ पत्रकार रामदत्त त्रिपाठी के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *