यशवंत-जेल : यह है दैनिक जागरण द्वारा दर्ज कराए गए एफआईआर का मजमून

यशवंत की गिरफ्तारी को लेकर अक्‍सर पूरे मामले को न जानने वाले लोग कारण पूछते हैं. लिहाजा सबको पूरी कहानी रिपीट कर पाना म‍ुश्किल होता है. इसलिए लोगों की सहूलियत के लिए दैनिक जागरण द्वारा नोएडा के सेक्‍टर 58 में दर्ज कराए गए मामले की एफआईआर की कापी ही भड़ास पर पब्लिश किया जा रहा है ताकि लोगों को पता चल सके कि मामला क्‍या है, पुलिस इस मामले को लेकर कितनी संवेदनशील है तथा धाराओं का कितना अच्‍छा उपयोग किया गया है.

हालांकि इन सारे मामलों पर बहस होगी और पुलिस के चरित्र को भी न्‍याय के कटघरे में खड़ा किया जाएगा. जिस तरीके से दबाव और सत्‍ता की रखैल बन चुकी है यह व्‍यवस्‍था, इस पर सवाल उठाए जाएंगे, पर पहले पढि़ए जागरण की एफआईआर और पुलिस द्वारा दर्ज की गई कहानी.


इसे भी पढ़ें…

Yashwant Singh Jail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *