ये जागरण वाले हैं, कुछ भी छाप सकते हैं

वाह रे जागरण. अपना टर्न ओवर तो हजार करोड़ से ऊपर दिखाते हैं पर इतना भी नहीं कि खबर छापने के पहले जांच भी लें कि क्या छाप रहे हैं. पहले जिन्दा उद्योगपति को मरा बता डाला फिर एवन साइकिल के मालिक को हीरो साइकिल का मालिक बना डाला. और तो और सिखों के गुरु तेग बहादुर जी के शहीदी दिवस को तो इस अखबार ने जन्मोत्सव बना दिया.
 
अब इतना बड़ा अखबार और खबरों में इतनी गलतियां कौन कहे इनसे. वैसे इसमें जागरण वालों का कोई दोष नहीं, जागरण वाले कहते हैं कि हम जो छाप देते हैं वहीं सही है तो अब जो चाहें वो छाप दें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *