लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार सिद्धार्थ कलहंस ने आजतक वाले दीपक शर्मा को संघी न होने का सर्टिफिकेट जारी किया

Siddharth Kalhans : Deepak Sharma का मेरा साथ कोई 18 साल का है। पायनियर में वो मेरे सीनियर रहे। बड़े भाई का नाता है। लखनऊ में उनके दोस्तों की तादाद खासी है नवाब फौजान से लेकर नींबू की आढ़त वाले इरफान भाई, आमिर से लेकर पुराने कपड़ों का धंधा करने वाले कायम रजा तक। मैंने उनके दोस्तों की फेहरिस्त में किसी पंडित को नही पाया। आपसी बातचीत में हम एक दूसरे को पंडित जी और बाबू साहब (उत्तर प्रदेश के पूर्वी इलाकों में ठाकुरों को इसी नाम से बुलाया जाता है) कहते रहते हैं। आज एक स्टिंग को लेकर लोग उन पर सवाल उठा रहे हैं। मैंने अपने इतने सालों के साथ में उन्हें कभी किसी संघी विचारधारा के साथ खड़ा नही देखा। पत्रकारिता में शुचिता की मिसाल हैं। हाकी खिलाड़ी सैयद अली उनके पिता पदमश्री जमनलाल शर्मा के दूसरे बेटे जैसे रहे।

उम्मीद है दंगा पार्ट वन और टू देख कर लोगों की आंखें खुली होंगी। न खुली हों तो आसाराम बापू पर उनका स्टिंग देख लें। या गुजरात दंगों में उनकी गवाही को याद कर लें। आज ही इकबाल चौधरी मुजफ्फरनगर के मीरापुर से फोन पर बता रहे थे कि आजतक ने जो दिखाया वो आप के लिए अजूबा होगा पर यहां बच्चे-बच्चे को मालूम है। फैसले सुनाने के पहले जिरह, बहस, गवाही गुजनरे का इंतजार करों दोस्तों।

सिद्धार्थ कलहंस के फेसबुक वॉल से.


उपरोक्त पोस्ट पर आईं प्रतिक्रियाएं यूं हैं…

Pradeep Sharma Sahi kaha sir aapne…
 
Kumar Sanjay sidharth bhai aise me aap ka dipak ji ke saath khara hona aur unki sacchai ko taqat dena ek accha kadam hai .sabhi logo ke man me prajatantrik

moolyo ko majboot karne ke liye
 
Hafeez Kidwai Bilkul deepak ek sanjida aur behtrin patrkaar hai…un par anap shanap baate ni karni chahiye…
 
Jasminder Singh Sir, they butchered innocent people. They should be brought to the book.
 
Abhinav Pandey वैसे लखनऊ के लोग तो दीपक भाई से साथ ही मिलेंगे, जो साथ रहे, आपकी तरह, या जो उन्हें follow करते रहे लम्बे समय से हमारी तरह…. वैसे शक दे दायरे से तो सीता भी नहीं बची थी मतलब ..लोगों का काम है कहना….
 
Prathak Batohi दीपक जी अपने स्टिंग के कारण सिर्फ राजनितिक लोगो के द्वारा घेरे में है सलमान खुर्शीद वाले मसले में भी वे लपेटे गये थे जबकि स्टिंग में कुछ ऐसा गलत नही था। इस बार वे घेरे में हैं मगर मीडिया एथिक्स के मसले पर पत्रकार सूत्रों के सार्वजनिक किये जाने को गलत मान रहे हैं।
 
Dinesh Chandra Mishra bhai pioneer tea stall ki late night chuski yad diila di appne
 
Mohammad Anas एक पोस्ट और लिखिएगा अगर लिख सकें तो , Deepak Sharma जी ने खुद का विरोध करने वालों को 'किन्नर' कहा है ,उनको किन्नर का मर्म समझा सकें तो समझा दीजिएगा ,मुझे लगता है आपके साथ बिताए इतने सालों में कुछ तो सीखा ही होगा आपसे उन्होंने .मोदी को पी एम बनवाने की इनकी अपीले इनके प्रोफाइल पर मिल जाएंगी कामरेड ,उस पर भी एक नज़र डालिएगा .

Siddharth Kalhans अनस भाई आपके कहने पर अभी इनकी पोस्टें खंगाली। कई साथी इनको टैग वगैरा करते रहते हैं पर इनको ज्यादा पता नही फेसबुक आपरेशन सो हटा नही पाते। बाकी एक पोस्ट में इन्होंने सवा खड़ा किया है कि मोदी कैसे पीएम बनेंगे जब दक्खिन के सूबे, पूर्वोत्तर, बिहार उड़ीसा और सबसे पहले देश के 25 करोड़ मुसलमानों को उन पर विश्वास नही है। एक जगह ये भी लिखा है……….नमो नमो नही ..अटल मंत्र जपिये.. निजाम के शहर में देश का निजाम बदलने का एलान करने वाले की तकरीर . TRP तक़रीर थी …मोदी ब्रिगेड के लिए भी चैनल वालों के लिए भी. लेकिन मित्रों अभी भी कुछ कमी है. मोदी एक गरजते सिंह की तरह कांग्रेस पर दहाडें इसका स्वागत है. विपक्ष के तेवर ऐसे ही होने चाहिए. लेकिन कुछ कमी अभी भी है. मुझे लगता है की देश के मुसलमानो के साथ उन्हें संवाद करना होगा और एक फ्रीकुएंसी पर खुद को ट्यून करके आगे बदना होगा . इस दिशा में मोदी …अटलजी की तुलना में कमज़ोर दिखाई पडते है. इस कमजोरी का इलाज़ मोदी ब्रिगेड के पास नही है …इसका इलाज़ हिंदुत्व समर्थकों के पास नही है ..ये दोनों इस दर्द को और बड़ा देंगे. मित्रों मौजूदा वक्त में मोदी को अटल फार्मूले की ज़रूरत है ….बाकी किसी भी फार्मूले से वो 7 रेस कोर्स रोड का ताला नही खोल सकते है.

मोदी ब्रिगेड से आग्रह..कृपा नाराज़ ना हो इस शेर से अटल फार्मूले को समझे

जो मुखालिफ आज हैं मुमकिन है कल हमदर्द हो
अपने दुश्मन से भी उम्मीद ऐ वफ़ा रखता हूँ मै
 
Siddharth Kalhans किन्नर वाले में मेरा मानना है कि ये आवेश में लिखा गया होगा वरना यूपी में पहली किन्नर के मेयर बनने पर इन्होंने ही मुझे उनका साक्षात्कार करने गोरखपुर भेजा था और उसे पायनियर के ओपेड पेज पर छपवाया था। लखनऊ के मशहूर किन्नरों के मेले के बारे में भी इन्होंने ही मुझे बताया और कवरेज करवायी।

Siddharth Kalhans I feel my friends have become judgmental very soon
 
Mohammad Anas आपको लगता है मामला इतना सीधा है ? और इस बार बेमन से न पढ़िएगा ,मेरे भी बचपन के कई दोस्त मोदीमय हो गए हैं . क्या मोदी पी एम् बनेगें? ( 15 सितम्बर की पोस्ट) बातचीत के आखिर में हर कोई यही सवाल पूछ रहा है . क्या मोदी पी एम् बनेगें? मित्रों उम्मीद पर दुनिया कायम है तो भला उमीदवार और उनके समर्थकों को उम्मीद क्यूँ ना हो .जहां प्रधानमंत्री का ज़िक्र कार्टून और लतीफों में ज्यादा हों वहां उम्मीद क्यूँ ना हो. जहाँ महंगाई कमर तोड़ रही हो और रुपया मुह के बल गिर रहा हो वहां उम्मीद क्यूँ ना हो. जहाँ भ्रष्टाचार में हर बड़ा आदमी देश का बेडा गर्क कर रहा हो वहां उम्मीद क्यों ना हो. मित्रों उम्मीदें ही उम्मीदें हैं. लेकिन कुछ सवाल भी. क्या बीजीपी दक्षिण भारत के तीन बड़े राज्यों में खाता खोल पायेगी ? तमिल नाडू और केरल में क्या आम आदमी इतिहास रचने के मूड में है ? क्या बंगाल समेत पूर्वोतर के ८ राज्यों में पूर्वाग्रहों से ऊपर उठकर कोई मनमोहन के बदले मोदी को मत देने के लिए तैयार है ? छोडिये उडीसा छोडिये बिहार ….क्या देश के २५ करोड़ ..जी हाँ २५ करोड़ मुस्लमान मोदी को वोट दे सकते हैं ? प्लीज़ कोई दिल में उतर कर इन सवालों का ईमान से जवाब ढूंढे . तर्क संगत बात  करियेगा और दिल से जवाब दीजियेगा क्यूंकि ये सवाल देश की जुबान पर है.

Mohammad Anas कामरेड जिसके पक्ष में आप उतर आयें हैं वह संघी पत्रकार अयोध्या में बाबरी तोड़ने जा रहे कारसेवकों के पक्ष में माहौल बनता है ताकि मुलायम कमज़ोर हों -इस बार ध्यान से पढ़िएगा , 9 सितम्बर की पोस्ट -ड्रेकुला पालिटिक्स जानते है आप ? नही जानते तो आगे पढिये . आपको याद ना आये तो यह घटनाएँ और ऐसी कई और घटनाएँ पहले गूगल पर  सर्च कर लीजिए .

१) रामपुर तिराहा कांड. उत्तराखंड आंदोलनकारियों पर अंधाधुन्द फायरिंग.
२) पूर्वी यू पी में डाला सीमेंट फैक्ट्री. अपने चहेते उद्योगपति को सरकारी फैक्ट्री पर कब्ज़ा दिलाने के लिए मासूम मजदूरों पर गोलियाँ बरसाईं.
३) अयोध्या जा रहे सैकड़ों कारसेवकों पर गोलीबारी.
४) और अब अलग अलग शहरों में दंगो के वक्त पुलिस फाएरिंग

फेहरिस्त लंबी है मित्रों. मुलायम सिंह यादव की सरकार में गोली दुर्भाग्यवश या गलती से नही चलती.  बल्कि सरकारी बन्दूक से निकली हर गोली के पीछे कोई ना कोई वजह होती है और अधिकतर गोलीकांडो में राजनीतिक लाभ छुपा होता है. मिसाल के तौर पर मुलायम उत्तराखंड राज्य के पक्ष में कभी नही रहे क्यूंकि इन पहाड़ों में मुस्लिम -यादव समीकरण का अभाव था. मुलयम जानते थे की उत्तराखंड अलग होगा तो समाजवादी पार्टी का फायदा कम नुकसान ज्यादा होगा. इसलिए रामपुर तिराहा कांड हुआ. चुन चुन कर मासूमों को पुलिस फायरिंग में ढेर किया गया. कारसेवकों पर गोली चलाने के पीछे भी वोटों का ध्रुवीकरण था. इसका लाभ मिला मुलायम को जब उन्होंने १९९३ में दुबारा अपनी सरकार बनाई. कारसेवकों के छलनी सीने से मुलायम को नया राजनीतिक जीवनदान मिला. और अब यूपी में दंगा दंगा खेला जा रहा है. मकसद है की लोकसभा चुनाव आते आते राज्य में साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण इतना ज़बरदस्त कर दिया जाय की मुस्लिम कांग्रेस और बीएसपी में ना बंट कर सीधे सपा की सायकिल पर सवार हो. मुलायम सिंह अपने आखरी दांव में पी एम् की बाजी लूटना चाहते है और इस लूट में उन्हें लाशों के ढेर पर राजनीत करने से परहेज़ नही है. वे राजनीत को नई परिभाषा नया नाम दे रहे है. ड्रेकुला पालिटिक्स. मित्रों इस श्रृंखला में बेबाक बातचीत होगी क्यूंकि दंगो के सन्दर्भ में फेसबुक पर ही अब श्वेत पत्र ज़ारी करना है.

Mohammad Anas फिर मोदी के साथ फोटो और उसका कैप्शन – (Modi invited me today evening at his office in gandhinagar . He appreciated the programme on august 15 on bhagat singh and other shahee Along with yadvendra bhagat singh Modi was keen to see bhagat singhs hand written jail diary… The orginal manuscript) और उसके नीचे एक कम्नेट जनता जनार्दन के लिए (Mulayam singh  yadav had earlier met yadvendra bhagat singh in delhi Yadvendra told that mulayam was not much interested in seeing the diary of bhagat singh Feel sad)

Mohammad Anas इस संघी को मायावती ,मुलायम सिंह यादव ,सलमान खुर्शीद सब के सब बंटवारे वाले लगते हैं और जनता जनार्दन को इनकी पोलिटिक्स समझाता है वहीँ मोदी के लिए नए रास्ते कैसे खुले उसकी सीख देता है –
ये पोस्ट है – 30 जुलाई की कामरेड

Mohammad Anas DIVIDE AND RULE ( जाती, धर्म, राज्य ..सब कुछ बांटो ) कुंवारी हूँ, तुम्हारी हूँ चमारिन हूँ ….ये नारा हरिद्वार में देकर मायावती ने यू पी में समाज बांटकर एक अलग वोट बैंक की राजनीत शुरू की थी बेकाबू कारसेवकों पर जब अयोध्या(फैजाबाद) के तत्कालीन एसएसपी सुभाष जोशी ने गोली चलवा दी तो हाशिए पर आये उस वक्त के मुख्य मंत्री मुलायम सिंह यादव ने खुद को मौलाना करार करके राज्य को सांप्रदायिक आधार सीधे सीधे बाँट दिया था कांग्रेस इन दोनों से दो हाथ आगे निकली आंध्र में YSR के बाद जब कांग्रेस दक्षिण में सिमटना शुरू हुई तो एक नए वोट बैंक की तलाश में उसने राज्य के ही टुकड़े कर दिये. लेकिन क्या कांग्रेस को तेलंगाना पार्टी के रहते इस नए राज्य में कोई वोट देगा. दिग्गी राजा आंध्र में कांग्रेस के प्रभारी है ..शायद उनके पास इस सवाल का जवाब हो. वैसे दिग्गी पहले यू पी के प्रभारी थे. सच तो ये है मित्रों कि दिग्गी जहाँ जाते है वही कांग्रेस की डुग्गी पिटवा देते हैं. बांटना ही था तो प्यार बाँटते जनाब आप तो कुर्सी के लिए देश बाँटते है

Siddharth Kalhans है न हैरानी की बात कि ये मुलाकात तब होती है जब दीपक फेक इनकाउंचर पर वहां स्टोरी करने गए होते हैं

Mohammad Anas कामरेड ये सारे पोस्ट नहीं दिखे थे क्या आपको ? आपके दोस्त मोदी के लिए लड़ रहे हैं और आप अपने दोस्त के लिए ///वाह कामरेड ,जियो ,लाल सलाम /मार्क्स सलाम /हरा सलाम /भगवा सलाम ….See

Siddharth Kalhans मेरे कुल जमा कहने का मतलब यही था कि दीपक न तो संघी हैं न कांग्रेसी और न ही वामपंथी। बीच में वो अन्ना, किरण, केजरी की तारीफ जरुर करते थे

Mohammad Anas जाते जाते एकदम आखरी वाली बात ,इशरत जहाँ पर इन जनाब का पोस्ट जिसे आपके धर्मनिरपेक्ष बनाने के लिए शब्दों के गुलाब झाड़े हैं – सनद रहे ,इशरत मामले में मोदी फंसे हैं और फंसेंगे लेकिन ये कहते हैं वो कोई मुद्दा नहीं -सारा जहां और एक इशरत जहाँ.. 10 दिन पहले उत्तराखंड में बिना किसी कसूर के मारे गए 10,000 मासूम और 9 साल पहले मारी गयी इशरत जहां मै कौन सी घटना ज्यादा मार्मिक और वृहद है ? इस सवाल का जवाब 5-6 साल का बच्चा भी दे सकता है. लेकिन कांग्रेस को सारे जहां से बड़ा इशरत जहां का केस लग रहा है. सच ये है कि उत्ताखंड की बात अगर कांग्रेस करे तो वो खुद मारी जाती है क्यूंकि वहाँ सरकार उसी की है. तो कैसे उतरा जाए मुसीबत के पहाड से ? अगर इशरत जहाँ को मुद्दा बनाए तो कैसा रहेगा ? मुस्लिम वोट बैंक भी मज़बूत होगा और मोदी की मुश्किलें भी बढेगी. राजनीती में एक तीर से दो शिकार कम ही करने को मिलते है. लिहाजा कांग्रेस ने इशरत जहाँ को मुद्दा बनाकर राजनितिक तौर पर गलत नहीं किया. सिर्फ सत्ता ही उदेश्य हो तो कांग्रेस का फैसला सही है. इशरत जहाँ पर की गयी राजनीत पर में कांग्रेस का समर्थन करता हूँ. यूँ भी लश्कर-वश्कर, पाकिस्तान-वकिस्तान, आतंक-वातंक का क्या लेना इशरत से. कोई लड़की क्या लश्कर के आतंकवादियों से दोस्ती नहीं कर सकती ? क्या दोस्ती में घर के बाहर रात गुजारना पाप है ? क्या गलत है …क्या लश्कर के लड़के हिंदुस्तान की किसी लड़की से मोहब्बत नहीं कर सकते ? friends lets be broadminded. lets not see things from terror angle. lets be forward looking.

जी हाँ छोडिये बेकार की बातें …. आएये साथ मिलकर भारत निर्माण करें.

Siddharth Kalhans भारत निर्माण का नारा तो कांग्रेसी है

Mohammad Anas कामरेड ,ये दीपक अब संघी बन चुके हैं . आप नहीं मानेगे तो हम आपको लगातार बताते रहेंगे लेकिन ऐसे उनके पक्ष में आप उतर आएंगे ,इसकी तनिक भी उम्मीद नहीं थी !
 
Siddharth Kalhans वैसे इस फेक इनकाउंचर की सबसे जबरदस्त बखिया भी इन्होंने उधेड़ी थी आज तक पर .. उत्तर प्रदेश में बेगुनाह मुसलमानों के मामले में एनएचआरसी दिल्ली में मिलवाने मुझे ये ही ले गए थे।

Siddharth Kalhans अब संघी बन गए हैं…….. जांच का विषय है। आगे से देखेंगे
 
Ashu Bhatnaagar Siddharth जी संघी हिन्दुओ की तरह वहाबी मुसलमानों भी अपना विरोध बर्दाश्त नहीं कर पाते और दीपक शर्मा के स्टिंग का भी यही हाल है इस एक मुस्लिम विरोधी स्टिंग ने उनके सब किये पर पानी फेर दिया कोई ये मानने को तैयार नहीं ना वो पहले मुस्लिम के साथ थे ना वो आज उनके विरोध मैं वो पहले भी सत्य के लिए ही खड़े थे और आज भी

Mohammad Anas फर्जी मुठभेड़ से किसे फायदा हुआ ? हर तरह से मोदी और भाजपा को ,कांग्रेस ने बस उठाया ,अगर ज़रा भी चूं चा करे कांग्रेस तो हिन्दू मतों का पोलिरैजेशन होगा ,ठीक वैसे जैसे मुजफ्फरनगर दंगे में सपा चाह कर भी भाजपा के लोगों को नहीं पकड सकती .. आप इतना नहीं समझेंगे ,मुझे हैरानी हो रही है कामरेड !

Siddharth Kalhans हां वो इब्न अल वहाब के बारे में कुछ दिन पहले हम सब के अजीज भाई खुर्शीद अनवर तफसील से जानकारी दे चुके हैं

Siddharth Kalhans दरअसल दीपक भाई खालिस लखनउवा हैं। सबकी लेंगे। उनको किसी पार्टी के चश्मे से न देखें। कोई नही मिलेगा तो खुद की ही लेना शुरु कर देंगे। ये लखनऊ की अड्डेबाजी का कमाल है

Siddharth Kalhans मैं फिर कह रहा हूं इतनी जल्दी फैसले पर न पहुंचों अनस भाई
 
Mohammad Anas कोई और लिखता दीपक शर्मा के लिए तो कभी न आता ,पर आप हैं इसलिए आ गया ! मामला इतना हल्का नहीं है ,जितना आप अब बना रहे हैं , दीपक ने मुजफ्फरनगर दंगे का पूरा रुख ही बदल दिया है ,अब जो हम सब हमलावर थे भाजपा (असली मुजरिम) अब उन्हें जवाब देते थक जाते हैं . ये भोलापन नहीं चलेगा ,लखनवी चकल्लस में देश की राजनीति बिगड़ जाए उससे अच्छा हम इसमें पड़े न . खैर ,अब चलता हूँ ! मैं आपको कुछ और नहीं कह सकता , घर के बड़ों को छोटे समझाएं वैसी तालीम नहीं मिली मुझे वामपंथ से !

Siddharth Kalhans देखो भाई मुजरिम भाजपा तो है ही। कई महीनों की तैयारी थी उनकी दंगे के लिए। क्या ये सपा को नही मालूम था। सीएम को नही पता और बच्चा बच्चा जानता था काफी पहले से कि बारुद के ढेर पर बैठा है वेस्ट यूपी। क्यों नही समय रहते चेते। और क्यों थमा दिया लुकाठा दंगाईयों के हाथ। अब वहां रालोद, कांग्रेस और बसपा तो दंगा कराने वाली नही थी। इसकी तैयारी तो भाजपा की थी और हाथ सपा भी सेंक रही थी

Mohammad Anas सबको सब मालूम था ,जाट वोट सुरक्षित रखने के लिए महापंचायत होने दी जाती है ,मुस्लिम वोट पास रखने के लिए पंचायत ..लेकिन भड़काने के लिए वीडियो ,भाषण ..आपके इन 18 साल पुराने मित्र के 'सबसे बड़े खुलासे' में असली कातिलों का जिक्र तक नहीं आता और बहुत ही आसानी से सत्ता पक्ष की गलती जो असल में वहां के पुलिस /प्रशासन की गलती थी को सबसे बड़े खुलासे के रूप में प्रचारित किया गया,अगर मौका मिले तो दोनों पार्ट फिर से देखिएगा .. अब इस पोस्ट पे एक भी कम्नेट नहीं करूँगा क्योंकि आप मजबूर कर रहे हैं वह सब यहाँ लिखने के लिए जो मैं आपके इस 'स्टैंड' जो अनजाने में लिया गया है के खिलाफ लिखना चाहता हूं ! दादा ,मैं आपसे आज तक मिला नहीं ,पर सम्मान बड़ा है ,दीपक से कहिएगा वे मोदी को नहीं ,भारत के इंसानों की मौत को जिताने की मैराथन रेस में शामिल हो चुके हैं !(माया राज में भाजपा दंगा नहीं करवा सकती क्योंकि दलित देश भर में उसके खिलाफ हो जायेंगे ,मुसलमानों के खिलाफ करेगी तो देश भर का हिन्दू भाजपा के साथ हो जाएगा ) नमस्ते !

Siddharth Kalhans राखी का भी तो लिहाज था तो कैसे दंगे करवाती बसपा राज में
 
Mohammad Anas जाने क्यों आज मैं व्यंग के मूड में नहीं हूँ (शायद इसे पढ़ने के बाद से ऐसा हुआ है )फिर भी कभी लखनऊ आया तो आपके साथ प्रेस कल्ब में दारु ज़रूर पियूँगा ! हा हा हा

Siddharth Kalhans मुसल्ला रखता है, सैबा और जाम रखता है, फकीर सबके लिए इंतजाम रखता है।

Siddharth Kalhans अनस भाई—बीजेपी विधायक सुरेश राणा को यूपी पुलिस ने लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया है। राणा पर भड़काऊ भाषण देने का आरोप है। गिरफ्तारी के बाद राणा को लखनऊ के गोमती नगर थाना ले जाया गया

Siddharth Kalhans संगीत सोम भाग निकला। होटल के पिछले दरवाजे से

Mohammad Anas अखिलेश बहुत गुस्सा हैं ,दंगाई छोड़ें नहीं जाएंगे ,सपा की पुरी ज़मीन ख़राब हो गयी है इन दंगों से ,सही कह रहा हूँ ,दीपक से कहिए आज तक पर माफीनामा चलवा दे ,विधानसभा में कमिटी बनी है जिसमे सभी दल के नेता हैं ,स्टिंग की विश्वसनीयता की जांच होगी (आज तक का भाजपा के साथ मिल कर आजम और सपा पर यह सियासी हमला था ) ,जो जल्दी ही रिपोर्ट

रखेगी ,इस बार चाप दिया जायेगा यह संघी रिपोर्टर Deepak Sharma

Mohammad Anas दादा इस पोस्ट को Public Post में डाल दीजिए ,बहुत सारे लोग देखना चाह रहे हैं और देख नहीं पा रहे हैं क्योंकि आपकी लिस्ट में नहीं हैं .See Translation
 
Obaid Nasir Kopi Deepak par shak nahi kar sakta Jo kare woh—la pagal
 
Deepak Sharma Anas sahab be sankalp liya hae mijhe sanghi kehna ka.. Bdya hae
 
Imran Idris साम्प्रदायिकता जैसे मुद्दे पर निष्पक्ष पत्रकारिता न करना …

Siddharth Kalhans अब किसी के कहने से आप संघी नही हो जाएंगे दीपक भाई
 
Mohammad Anas खैर … Deepak Sharma जी ,इन्सान के तौर पर आपका सम्मान चूँकि कामरेड ने कहा है ,लेकिन पेशेगत मजबूरीयों को हम बखूबी जान रहे हैं ,आप पहले न रहे हों संघी फिलहाल हैं ! और इसे मान लेने में कोई बुराई नहीं है ,क्योंकि आपकी ही फेसबुक पोस्ट है 'मोदी की तारीफ़ करने वालों को …….' बाकी आप साबित कीजिए संघी नहीं हैं ,मैं आपका विरोध बंद कर दूंगा !

Deepak Sharma Aap tagging rokne ka upay bataen kal se haeamzaadon ko wall par jgh nhi denge Me to apna fb acount band krne ka mann bna rha hun
 
Deepak Sharma Call kro baat karte haen
 
Subhash Tripathi vn
 
Subhash Tripathi sach
 
Mohammad Anas डर लगता है आपसे बात करने में ,पता नहीं मेरा स्टिंग न चला दें (joke a part ) 09807-646407 ये नंबर है Deepak Sharma
 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *