लखनऊ में एक छुटभैया पत्रकार के कारण बाकी पत्रकारों को होना पड़ा शर्मिंदा

: कानाफूसी : यूपी विधानसभा में नव निर्वाचित विधानसभा अध्यक्ष के चुने जाने के बाद हो रही प्रेस कांफ्रेंस में उस वक्त पत्रकारों के सामने असहज स्थिति पैदा हो गयी जब एक छुटभैया पत्रकार प्रेस कांफ्रेंस शुरू होते ही स्पीकर से दावत ना देने की शिकायत करने लगा। उक्त पत्रकार की इस हरकत से पत्रकारों को भी शर्मिंदा होना पड़ा। मामला लखनऊ का है। यूपी में विधानसभा का विशेष सत्र विधायकों को शपथ दिलाने और नये विधानसभा स्पीकर चुने जाने के लिए चल रहा था। नये स्पीकर माता प्रसाद पाण्डेय को निर्विरोध चुना जाना तय था।

माता प्रसाद पाण्डेय ने विधानसभा में हॉल में विधानसभा सदस्यों को लंच पार्टी दी थी। उन्होंने विधानसभा के अंदर ही प्रमोद तिवारी को सम्बोधित करते हुए कहा था कि आप मुझे कंजूस ना कहें इसलिये मेरी ओर से लंच पार्टी है जिसमें सभी सदस्य आमंत्रित हैं। विधानसभा का सत्र स्थगित होने के बाद सभी विधायक हाल में पहुंच गये और लंच में जुट गये। मीडिया के डेढ़ दर्जन लोग विधानसभा और हाल के बीच की गैलरी में ही खड़े रहे।

लंच के बाद माता प्रसाद पाण्डेय जैसे ही अपने दफ्तर पहुंचे उनके पीछे मीडिया के लोग भी पहली प्रतिक्रिया जानने के लिए पहुंच गये। इसी भीड़ में एक छुटभैया चैनल का छुटभैया पत्रकार भी था जो कई दिनों से भूखा लग रहा था। उसने गुस्से में माता प्रसाद पाण्डेय से कहा कि आप ने पत्रकारों को दावत ना देकर अच्छा नहीं किया। इससे पहले सभी स्पीकर पत्रकारों को दावत देते रहे हैं। उक्त पत्रकार ने तो यहां तक दावा किया कि कई मंत्री और विधायकों ने पत्रकारों को ना पूछे जाने के कारण खाना भी नहीं खाया।

इस पर माता प्रसाद पाण्डेय ने कहा कि मैंने कार्ड नहीं छपवाया था क्योंकि मैं तब तक स्पीकर नहीं चुना गया था। कार्ड छपवाया होता तो जरूर भेज देते। अगली बार आपको दावत में जरूर बुलायेंगे। बहरहाल उक्त पत्रकार की इस हरकत से पत्रकारों को शर्मिंदा होना पड़ा। कुछ विधायकों ने तो उक्त पत्रकार की ओर इशारा करके कहा भी कि बेचारा कई दिन से इसी दावत के लिए भूखा था और उसे यह दावत भी नहीं मिली।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *