लगता है लोकतंत्र के महान देवताओं (यथा सोनिया, लालू, कलमाड़ी, राजा… ) का धैर्य जवाब दे रहा है : मनीष सिसौदिया

Manish Sisodia : अन्ना के काफिले की एक गाड़ी पर कल हमला किया गया. सभा स्थल के अन्दर जा रही किताबों की गाड़ी पर पत्थरों से हमला किया गया और उसका शीशा तोड़ डाला गया. उसमें रखी किताबें फेंक दीं और गाड़ी में रखा एक वीडियो कैमरा भी वे उठा ले गए. लगता है लोकतंत्र के महान देवताओं ( यथा सोनिया गांधी, लालू यादव, कलमाड़ी, ए राजा… आदि) का धैर्य अब जवाब दे रहा है. अहिंसक आन्दोलन को जब वे सरकार की ताकत, पुलिस के डंडे और तमाम षडयंत्रों के बाद भी वे कुचल नहीं पा रहे हैं. अब उन्हें शायद किसी ने भरोसा दिला दिया है कि हिंसा से इन्हें रोका जा सकता है. महात्मा गांधी की कांग्रेस सोनिया गांधी तक आते आते कहाँ पहुच चुकी है.

        Saswat Mishra Jab buri shaktiyan mil shakti hein toh achhe log kyun na mil sakte hein.Mera ishara aap samajh rahe honge.
 
        प्रवीण द्विवेदी ये उनकी हताशा और कुँठा को प्रदर्शित करता है ।शायद अब उन्हे लगने लगा है कि जनता जागरुक हो रही है और अब उनकी दाल नही गलेगी।
 
        Manish Kumar Sharma Janta ko apni jagir samjhne wale neta log ab insecurity complex ka shikar ho rahe hain. Unhe alochna se dar lagta hai, cartoon se dar lagta hai. Lagta hai ye emercency ka naya roop hai jisme satta aur vipaksh ak pala me khade hain
   
        Amit Bhatnagar कांग्रेस कभी गाँधी की नहीं रही…
    
        Amit Bhatnagar ‎Manish Sisodia ji ये तो व्यवस्था परिवर्तन के लिए माहौल और आवशयकता की ओर इशारा है| इससे ज्यादा राजनैतिक ताकतें कुछ नहीं कर सकती……
     
        Santosh Srivastava Bujhne ke pahle burai ka deepak teji se bhadak raha hai.Asha hai mere soch aur janta ki ekjuta rang layegi

टीम अन्ना के प्रमुख सदस्यों में से एक मनीष सिसौदिया के फेसबुक वॉल से साभार.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *