वीएन राय हिंदी ब्लागरों को ब्लाग एग्रीगेटर ‘चिट्ठा समय’ मुहैया कराएंगे

सुनीता भास्कर : वर्धा हिंदी विवि में आज से दो दिनी सोशल मीडिया व ब्लोगर्स संगोष्ठी का आगाज हुआ. उद्घाटन सत्र में चिट्ठा जगत की दस साला यात्रा से लेकर उसकी आचार संहिताओं पर बात हुई..कुछ ने कहा ब्लागिंग को नियंत्रण नहीं समर्थन की जरूरत है.. कुलपति विभूति नारायण राय ने कहा राज्य को खुद पे नियंत्रण रखने की जरूरत है. बजाय की वह हर न्यूनतम अभिव्यक्ति पर लोगों पे अंकुश लगाये.. साथ ही अंतराष्ट्रीय हिंदी विवि की दो बड़ी योजनाओं से सबका साक्षात्कार कराया.

पहला हिंदी समय डाट काम जैसी वेबसाईट का निर्माण (हिंदी की हर महत्वपूर्ण रचना जिसमें समाहित है) और दूसरा हिंदी का शब्दकोश तैयार (जिसमें दस फीसद शब्द अंग्रेजी बोलचाल के शामिल किये हैं). तीसरी संभावित योजना भी बताई जिसमें हिंदी के सभी ब्लोग्स को एक वृहत्तर मंच मुहेय्या कराया जाएगा जिसका नाम चिट्ठाजगत की तर्ज पर चिट्ठा समय होगा..

उद्घाटन सत्र में ब्लोगिंग के कई गंभीर पहलूओं पर चर्चा (भजन ) की कसमें खायी गयी लेकिन पहले ही सत्र (ब्लॉग, फेसबुक व ट्वीटर की तिकड़ी_एक दूसरे के विकल्प या पूरक) में सभी ब्लोगर कपास ओटते नजर आये…सारी चर्चा तितर बितर रही. लिहाजा सौ रुपये रजिस्ट्रेशन फीस जमा किये हुवे सक्रिय श्रोता (छात्र छात्राएं) भी खाना ठंडा होने या ख़त्म होने की फिक्र में एक बजते ही अपने अपने होस्टलों का रुख कर लिए..अगला सत्र सोशल मीडिया और राजनीति का है देखते हैं हिंदी के सुधि ब्लोगर क्या कुछ नया दे पाते हैं…..

पत्रकार और शोधार्थी सुनीता भास्कर के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *