शराब माफिया पोंटी चड्ढा का अंत, एक दूजे को गोली मार मरे दोनों भाई

गलत-सही किसी भी तरीके से पैसे बटोरने के लिए दिन रात एक करने वालों और लोगों को लूट लूट कर तिजोरी भरने वालों का अंत कई बार ऐसे ही होता है. उन्हें और कोई नहीं मारता. वे खुद आपस में लड़ मर जाते हैं. पोंटी चड्ढा के मामले में ऐसा ही हुआ है. दिल्ली में छतरपुर में पोंटी का फार्महाउस है. यहां पर उसका भाई हरदीप चड्ढा भी आया हुआ था.

दोनों में बातचीत हो रही थी. दोनों में आपसी मनमुटाव भी रहा करता था. बताते हैं कि अचानक हरदीप चड्ढा ने पोंटी चड्ढा पर फायर झोंक दिया. यह देख पोंटी चड्ढा के गार्डों ने हरदीप पर फायर मार दिया. दोनों को घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया. बताया जाता है कि दोनों की मौत हो चुकी है.

अभी कई जानकारियां सामने नहीं आई है. शुरू में केवल पोंटी चड्ढा के भाई के मारे जाने की सूचना आई. बाद में यह पता चला कि पोंटी भी मारा गया है. पोंटी चड्ढा के मुरादाबाद स्थित घर पर पिछले महीने भी फायरिंग हुई थी. सस्ते में दारू लेकर बेहद महंगे दाम में बेचने का काम करने वाला पोंटी चड्ढा मायावती के समय में शराब के मामले में पूरे यूपी पर राज करता था, और सपा की सरकार आने पर अखिलेश के राज में भी उसका जलवा कायम था. हालांकि वह अब खुद नहीं रहा, सो देखना है कि जलवे का क्या होता है.

55 साल के पोंटी चड्ढा के शरीर में 6 बुलेट घुसे हुए हैं. कुछ लोगों का कहना है कि उसे बारह गोलियां लगीं. कहा जा रहा है कि जमीन विवाद को लेकर दोनों भाइयों के बीच गोलीबारी हुई. फायरिंग में एक गार्ड भी घायल हुआ है. पुलिस ने फार्म हाउस की घेराबंदी कर मामले की जांच-पड़ताल शुरू कर दी है.


पोंटी के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए यहां क्लिक करें- भड़ास पर चड्ढा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *