शर्मनाक : भास्कर वालों ने महाकुंभ में नहा रहीं महिलाओं की तस्वीर छाप दी

Mohammad Anas : कुम्भ के सारे शाही स्नान हो चुके हैं. तब से आज तक इलाहाबाद या फ़िर राष्ट्रीय मीडिया ने स्नान करती हुई महिला श्रद्धालुओं की तस्वीर नहीं छापी, ना तो टेलीविजन पर दिखाई गई. लेकिन दैनिक भास्कर ने ना सिर्फ़ इलाहाबाद प्रशासन के उस आदेश का मखौल उड़ाया जिसमें इस बात की मनाही थी की घाट पर स्नान करती महिलाओं की तस्वीर ना ली जाये, तस्वीर तो ले ही ली और साथ ही में बिना किसी पूर्व सूचना के जिनकी तस्वीरें ली थीं, उन महिलाओं की तस्वीर अपने पोर्टल पर भी डाल दी, जो कि निन्दनीय है! क्या इस बेहुदी हरकत के लिये दैनिक भास्कर वालों को माफ़ी नहीं मांगनी चाहिये और क्या उन्हें तत्काल ही पोर्टल से इन तस्वीरों को नहीं हटाना चहिये, आप तय करें.

   Abhay Pratap Singh : फोटो भी ढंग की नहीं है एक लड़की की ही कई बार फोटो दिख रही …… अश्लील लग रही फोटो
 
    Syed Mohammad Altamash Jalal : पत्रकारिता के सारे नियम ताक पे रख दिए गए है आज के समय मैं सिर्फ जनता को लुबहने के लिए ये सब हो रहा है हलाकि भास्कर से तो ये उम्मीद नहीं थी
 
    Mohammad Anas : जी हां बिल्कुल अश्लीलता है ये
 
    Salman Rizvi : पता करिये होनहार फ़ोटोग्राफ़र कौन था????? एक ही मोहतरमा आई हैं पुरे कुम्भ में? और उन्ही के नहान से क्या मेला और धार्मिक अनुष्ठान ख़त्म हो गए…..
 
    Shikha Singh : ना सिर्फ टैग किया बल्कि बेहूदे कैप्शन और हैडिंग भी लगाए. अनस भास्कर की वेब साइट पर अगर आप नजर डाले तो यह ऐसी ही बेहूदगियों से भरी खबरों को अपलोड कर रहा है. शर्म आती है उन प्रशिक्षित पत्रकारों पर जो यह कर रहे हैं
 
    Syed Mohammad Altamash Jalal : आज से ही नहीं काफी वक़्त से भास्कर की साईट पे अश्लील तस्वीर की सामग्री उपलब्ध है |
   
    Mohammad Anas : मैं महाकुम्भ के मीडिया कैम्प में जा कर भास्कर के खिलाफ़ शिकायत दर्ज़ कर वाऊगा ,ताकी इन्हे पंडाल से बाहर किया जाये ,ये धर्म और अध्यात्म में भी अश्लीलता परोस रहे हैं ! एक बडे संसथान से ऐसी उम्मीद नही है !
    
    Salman Rizvi : अनस उनका फ़ोटो जर्नलिस्ट काफी होनहार आ गया है….. उस से पूछियेगा यही सीखा है उसने? बेईज्ज़ती करवा रहा है/ वैसे ख़ैर इज्ज़त ही?????
 
    Santosh Kumar : Mohammad Anas दोस्त, दिक्कत यही है…। कई बार ऐसा होता है कि जिसे छापने-लिखने से बचना चाहिए, उसे प्रमुखता से प्रकाशित किया जाता है। मेरा जायज-नाजयज कहने का मतलब भी कुछ यही था…।
 
    Mohammad Anas : भास्कर की वेब साइट बनी पोर्न साइट ..लाइसेंस हो रद्द !!
   
    Sachin Kumar Jain : dainik bhaskar does not care what is dignity and respect! They can sale anything….."ANYTHING". फोटोग्राफर ने वही किया, जो उससे करने के कहा गया होगा. वहाँ तानाशाही चलती है.

युवा पत्रकार और सोशल एक्टिविस्ट मोहम्मद अनस के फेसबुक वॉल से.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *