शारदा मीडिया के पूर्व सीईओ कुणाल घोष राज्‍यसभा से इस्‍तीफा देने को तैयार

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य तथा शारदा मीडिया समूह के पूर्व ग्रुप सीईओ कुणाल घोष ने आज कहा कि चिटफंड घोटाले में यदि उनके खिलाफ आरोप साबित हो जाते हैं तो वह राज्यसभा से इस्तीफा देने को तैयार हैं। शारदा ग्रुप के अध्यक्ष सुदीप्त सेन ने सीबीआई को पत्र लिखकर घोष के खिलाफ आरोप लगाया है।

पार्टी प्रमुख ममता बनर्जी को लिखे छह पन्नों के पत्र में घोष ने कहा, ‘मैं किसी भी जांच का सामना करने और सहयोग करने को तैयार हूं। मैं शारदा के धन की बाजार गतिविधियों से नहीं जुड़ा हूं। यदि जांच में घोटाले में मेरी संलिप्तता उजागर हो जाती है तो मैं राज्यसभा सदस्य के रूप में इस्तीफा देने को तैयार हूं।’ उन्होंने कहा कि तृणमूल में शामिल होने से पहले वह शारदा ग्रुप की मीडिया इकाई से जुड़े थे।

उन्होंने कहा, ‘मैं सितंबर, 2010 में शारदा मीडिया ग्रुप से जुड़ा और मार्च 2012 में तृणमूल सदस्य तथा सांसद बना।’ तृणमूल कांग्रेस सांसद डेरेक ओ ब्रायन के अनुसार घोष ने कहा, ‘यदि नेता कहती हैं तो वह इस्तीफा दे देंगे।’ इससे पहले घोष, सुदीप्त सेन और छह अन्य के खिलाफ चिटफंड कंपनी द्वारा संचालित टेलीविजन चैनल के कर्मचारियों को वेतन का भुगतान नहीं करने को लेकर एक प्राथमिकी दर्ज की गई।

संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) पल्लब कांति घोष ने बताया कि यह प्राथमिकी पार्क स्ट्रीट थाने में चैनल 10 के 21 कर्मचारियों ने यह कहते हुए दर्ज कराई कि कंपनी ने न तो उनके वेतन का भुगतान किया है और न ही उसने भविष्य निधि में उनका बकाया जमा किया है। यह पूछे जाने पर कि क्या सांसद को गिरफ्तार किया जाएगा तो घोष ने कहा, ‘हमने जांच शुरू कर दी है। जांच के लिए जिस चीज की भी आवश्यकता होगी, वह की जाएगी।’

तृणमूल सांसद कुणाल घोष ने अपनी तरफ से कहा कि वह सिर्फ कर्मचारी थे जिन पर चैनल की संपादकीय सामग्री की जिम्मेदारी थी। उन्होंने कहा, ‘मैं किसी भी जांच का सामना करने को तैयार हूं।’ शारदा मीडिया ग्रुप के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी कुणाल घोष ने कहा, ‘मैं मालिक नहीं था। वित्त और लेखा विभाग मेरे पास नहीं थे। मेरे पास चैक पर हस्ताक्षर करने का अधिकार नहीं था। मेरी छवि को धूमिल करने के प्रयास किए जा रहे हैं।’ उन्होंने बताया कि शारदा समूह के अध्यक्ष सुदीप्त सेन चैनल 10 के मालिक हैं। (एजेंसी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *