समाजवादी पार्टी को आरटीआई के दायरे में लाने का मामला आयोग पंहुचा

मैंने दिनांक 13-06-13 को समाजवादी पार्टी के लखनऊ कार्यालय से सूचना मांगी थी. जन सूचना अधिकारी – समाजवादी पार्टी, 19, विक्रमादित्य मार्ग, लखनऊ, उत्तर प्रदेश, पिन कोड -226001 को पंजीकृत पत्र  संख्या A RU 301995749IN दिनांक 14-06-13 के माध्यम से प्रेषित पत्र डाक विभाग की अभ्युक्ति "कार्यालय में इस पदनाम का कोई नहीं है अतः वापस" के साथ मुझे वापस मिल गया थाl इससे स्पस्ट था कि समाजवादी पार्टी स्वयं को सूचना के अधिकार के दायरे में लाने को तैयार नहीं थीl

मेरे अनुसार राजनीतिक दल सरकार से वित्तीय मदद प्राप्त करते हैं, इसलिए वे जनता के प्रति जवाबदेह हैंl  राजनैतिक दलों को बेशकीमती सरकारी जमीनें रियायती किराये पर मुहैया करावाई गई हैं, इसलिए पार्टियां जनता के प्रति जवाबदेह हैंl इन पार्टियों पर जनता का पैसा खर्च होता है इसलिए ये राजनीतिक दल आरटीआई की धारा 2(एच) के तहत आती हैंl

केंद्रीय सूचना आयॊग ने भी राजनीतिक दलों को सूचना के अधिकार के तहत लाते हुए राजनीतिक पार्टियों को जनसूचना अधिकारी और अपीलीय प्राधिकरण तैनात करने और मांगे जाने पर जानकारी उपलब्ध करवाने का आदेश दिया थाl मैंने दिनांक 22-07-13 को समाजवादी पार्टी को आरटीआई के दायरे में लाने और पार्टी कार्यालय में जनसूचना अधिकारी नियुक्त कराने के लिए शिकायती वाद राज्य सूचना आयोग में दिया है जिसे आयोग ने क्रमांक 40012 दिनांक 22-07-13 पर प्राप्त कर उस पर कार्यवाही आरम्भ कर दी हैl

उर्वशी शर्मा
समाज सुधारिका
लखनऊ

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *