सरकारे तो आती जाती हैं, देश की असली सेवा कम्युनिटी सर्विस है

Deepak Sharma : अजय अवस्थी भारतीय मूल के कंप्यूटर इंजिनियर है जो अमेरिका में सैटलाईट फोन के बेस स्टेशन बनाने वालों में से एक है. वो वाशिंगटन डीसी के पास बाल्टिमोर में रहते है. हर शनिवार को अजय बाल्टिमोर के पास सीनियर सिटीजन होम जाते है जहां वो अनाथ वृद्ध नागरिकों को घर का बनाया खाना परोसते हैं. हर हफ्ते के एक दिन वो इस होम को समर्पित करते हैं. अमेरिका में आर्थिक रूप से संपन्न ऐसे अवस्थियों की गिनती लाखों में है जो अपनी आमदनी का कुछ हिस्सा समाज के सबसे कमज़ोर वर्ग में बाँट देते है. इसे कम्युनिटी सर्विस कहते हैं और अमेरिका में कम्युनिटी सर्विस का रिवाज़ बड़ी तेज़ी से बढ़ रहा है. ऐसे लोगों की समाज में इज्ज़त व्यापारियों और जन प्रतिनिधियों से भी ज्यादा है.
……………………………………………………….
हिंदुस्तान में इसका उलट है. यहाँ विधायकों और सांसदों को कम्युनिटी सर्विस के लिए अलग से एमपी लैड फण्ड दिया जाता है पर इसका उपयोग निजी और राजनैतिक कार्यों के लिए ज्यादा हो रहा है. आर्थिक रूप से संपन्न भारत के अधिकतर नागरिक अपना अतिरिक्त धन कम्युनिटी सर्विस में नही … संपत्ति और रियल एस्टेट में निवेश करते हैं. इस दिशा में सबसे दयनीय स्थिति एनजीओ सेक्टर की है जहाँ ज़रूरतमंदों के नाम पर सरकारी ग्रांट हज़म की जा रही है. सलमान खुर्शीद का ट्रस्ट इसकी एक मिसाल था. सलमान अपवाद नही एनजीओ के घपलों के अभिप्राय हैं. देश की राजनीती में कई सलमान बैठे है.
…………………………………………………………….. 
मित्रों कम्युनिटी सर्विस के नाम पर ही आरएसएस का गठन किया गया था. कम्युनिटी सर्विस ही अन्ना का आन्दोलन भी था. नक्सलबारी में भी सार्वजनिक हितों को लेकर एक मुहीम शुरू की गयी थी. लेकिन सबके मकसद अलग थलग होकर बिखर गये. मित्रों मेरी गुजारिश आम आदमी पार्टी के लाखों कार्यकर्ताओं से है …अगर वो इस देश को वाकई आगे ले जाना चाहते है तो राजनीती के साथ साथ कम्युनिटी सर्विस की दिशा में भी आगे बढ़े . यह अच्छा काम भाजपा वाले भी कर सकते हैं. कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भी ऐसा नेक काम करने से कोई नहीं रोकेगा. मित्रों कम्युनिटी सर्विस ही देश की असली सेवा है. सरकारें तो आती जाती है.
 
आजतक में कार्यरत पत्रकार दीपक शर्मा के फेसबुक वाल से

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *