‘हिंदुस्तान’ के मैनेजमेंट व कर्मियों के बीच तकरार बढ़ी, अखबार में नोटिस छापे जाने पर लेबर कमिश्नर को पत्र

यशवंत जी, नमस्कार… हिंदुस्तान, कानपुर मैनेजमेंट ने हम लोगों के खिलाफ 22 दिसंबर को कानपुर और बिहार संस्करण के हिंदुस्तान अखबार के पेज नंबर चार पर एक नोटिस प्रकाशित किया है. इसमें 27 दिसंबर को इनक्वायरी में आने के लिए अंतिम समय दिया है. इस पर हमारे कर्मचारी संघ के संरक्षक एडवोकेट बीपी पांडेय ने लेबर कमिश्नर को 24 दिसंबर को एक पत्र भेजा जो नीचे अटैच किया गया है.

लेबर कमिश्नर को रिसीव कराए गए इस पत्र में हिंदुस्तान अखबार प्रकाशित करने वाली कंपनी के खिलाफ सरकारी आदेश की अवहेलना करने पर क्रिमिनल एक्ट के तहत सख्त कार्यवाही करने का अनुरोध किया गया है. इस लेटर को अखबार की चेयरपरसन शोभना भरतिया को रजिस्टर्ड डाक और मेल से भेज दिया गया है. हिंदुस्तान, कानपुर के महाप्रबंधक नरेश पांडेय को भी मेल और डाक द्वारा यह पत्र भेजा गया है. इस न्यूज और पत्र को भड़ास पर प्रकाशित करें.
आपका
संजय कुमार दुबे


संबंधित खबरें…

हिंदुस्तान, कानपुर के चार कर्मियों ने अखबार मैनेजमेंट के खिलाफ श्रम विभाग को लिखा पत्र

xxx

हिन्दुस्तान अखबार ने पीड़ितों के खिलाफ ही जांच बिठा दी

xxx

हिंदुस्तान अखबार ने श्रम विभाग को भी उसकी औकात दिखा दी

xxx

श्रम आयुक्त ने एचआर मैनेजर से पूछा- तुमको एचआर से न्यूज लिखने वाले डिपार्टमेंट में लगाया जाय तो क्या तुम कर पाओगे?

xxx

हिंदुस्तान के मीडियाकर्मियों को उत्पीड़ित किए जाने के खिलाफ एक पत्र

xxx

हिन्दुस्तान, कानपुर प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई का नोटिस

xxx

जीएम द्वारा नोटिस ना लेने पर हिन्दुस्तान के पीड़ित कर्मचारियों ने सीईओ को भेजा पत्र

xxx

जब हिन्दुस्तान अखबार चल निकला तो प्रबंधन ने निकाल बाहर कर दिया

xxx

हिंदुस्तान, कानपुर के मैनेजर और पीड़ित कर्मियों के बीच श्रम विभाग ने बैठक कराई, कोई नतीजा नहीं


इसी प्रकरण से संबंधित इन खबरों को भी पढ़ें…

दो पीड़ित हिंदुस्तानियों ने लेबर कमिश्नर शालिनी प्रसाद से की लिखित कंप्लेन (पढ़ें पत्र)

xxx

सात करोड़ रुपये बचाने के लिए शोभना भरतिया और शशि शेखर ले रहे हैं अपने 22 बुजुर्ग कर्मियों की बलि!

xxx

पैसे बचाने के चक्कर में हिंदुस्तान के 22 छोटे कर्मियों का दूर-दराज तबादला… (देखें लिस्ट) …उत्पीड़न अभी जारी है…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *