हिंदुस्‍तान के विज्ञापन घोटाले की गूंज विधान परिषद तक पहुंची, वकीलों पर खतरा बढ़ा

मुंगेर। हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्स लिमिटेड के दौ सौ करोड़ के कथित विज्ञापन घोटाले के मामले की गूंज अब मुंगेर से पटना के विधान परिषद तक पहुंच गईं है। कांग्रेस की विधान परिषद सदस्या ज्योति ने बिहार विधान सभा के प्रथम दिन दोनों सदनों के संयुक्त अधिवेशन में महामहिम राज्यपाल देवानन्द कुंवर के अभिभाषण के समय मासिक पत्रिका डेमोक्रेटिक मिशन की प्रतियां लहराईं। कांग्रेस की विधान परिषद सदस्या ज्योति ने सदन से बाहर आने के बाद इस संवाददाता को मोबाइल पर बताया कि उन्होंने सदन में पत्रिका की प्रतियां लहराईं और सरकार से पूरे घोटाले में उच्चस्तरीय जांच और दोषियों के विरुद्ध काररवाई की मांग की है।

डेमोक्रेटिक मिशन ने जनवरी-फरवरी, 2012 के अपने कवर पृष्ठ पर मेसर्स हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्स लिमिटेड की अध्यक्ष सह संपादकीय निदेशक शोभना भरतीया और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर भी छापी है। शोभना भरतीया की तस्वीर के नीचे शीर्षक है : ‘‘हिन्दुस्तान : बिड़ला घराने का दूसरा चेहरा।'' मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तस्वीर के नीचे छपा है :‘‘भ्रष्टाचार का जहर पीते नीलकंठ नीतीश कुमार।‘‘ मासिक पत्रिका डेमोक्रेटिक मिशन के अन्दर पृष्ठ पर विस्तृत रिपोर्ट शोभना भरतीया की तस्वीर के साथ छपी हैं। खबर का शीर्षक अन्दर के पृष्ठ परहै : ‘‘दैनिक हिन्दुस्तान के घोटालेबाज संचालक : 200 करोड़ का विज्ञापन घोटाला।‘‘

इस मासिक पत्रिका में छपी खबर मुंगेर मुख्यालय के कोतवाली थाना में दर्ज प्राथमिकी, जिसका केस नं0-445/2011 है, पर आधारित है। पुलिस थाना में सामाजिक कार्यकर्ता मंटू शर्मा के लिखित बयान पर जो प्राथमिकी दर्ज की गई है, उस प्राथमिकी में पुलिस ने दैनिक हिन्दुस्तान छापने वाली कंपनी मेसर्स हिन्दुस्तान मीडिया वेन्चर्स लिमिटेड की अध्यक्ष शोभना भरतीया, प्रकाशक अमित चोपड़ा, प्रधान संपादक शशि शेखर, कार्यकारी संपादक अकु श्रीवास्तव और स्थानीय संपादक बिनोद बंधु को भारतीय दंड संहिता की धाराएं 420/471/476 और प्रेस एण्ड रजिस्ट्रेशन आफ बुक्स एक्ट, 1867 की धाराएं 8बी, 14 और 15 के तहत नामजद अभियुक्त बनाया है।

इस पत्रिका ने यह भी उजागर किया है कि किस प्रकार देश के इस मीडिया हाउस ने बिना रजिस्‍ट्रेशन कराए दस से अधिक वर्षों तक दैनिक हिन्दुस्तान का मुंगेर संस्करण को अवैध ढंग से प्रकाशित किया और करता आ रहा है। इसके माध्‍यम से केन्द्र सरकार और राज्य सरकार का विज्ञापन छापकर सरकार को लगभग दो सौ करोड़ का चूना लगाया है। मीडिया हाउस ने दबाव बनाना शुरू किया। पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर सूचनादाता मंटू शर्मा ने बताया कि इस मीडिया हाउस के आरोपीगण दबंग और शक्तिशाली उद्योगपति हैं। ऐसी संभावना है कि नामजद अभियुक्तों के इशारे पर मेरे और मेरे टीम के सहयोगियों क्रमशः अशोक कुमार (अधिवक्ता), काशी प्रसाद (अधिवक्ता), श्रीकृष्ण प्रसाद (अधिवक्ता) और अजय तारा (अधिवक्ता) के विरुद्ध बदले की भावना से प्रेरित होकर जानमाल को क्षति पहुंचाने की कार्रवाई या फर्जी मुकदमे में फंसाने की कार्रवाई हो सकती है। पुलिस अधीक्षक को लिखित रूप में यह भी शिकायत की गई है कि इस मीडिया हाउस के मुंगेर जिले के तथाकथित पत्रकारों की भूमिका संदिग्ध हो गई है और मुंगेर हिन्दुस्तान कार्यालय के कथित प्रभारी संतोष सहाय ने उन पर दबाव बनाने का असफल प्रयास किया है।

मुंगेर से श्रीकृष्ण प्रसाद की रिपोर्ट. श्रीकृष्‍ण प्रसाद से संपर्क मोबाईल नं.- 09470400813 के जरिए किया जा सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *