है हिम्मत तो उसको थप्पड़ मारो जो…

Riyazat Khan : है हिम्मत तो घूस माँगने वाले पुलिस वाले को थप्पड़ मारो …. दफ्तर में … फ़ाइल उठाने की कीमत मांगने वाले चपरासी को थप्पड़ मारो …. अपने ऑटोग्राफ देने की कीमत माँगने वाले अधिकारी को थप्पड़ मारो …. हो हिम्मत तो … 500 रुपये में तुम्हारा वोट खरीदने वाले को थप्पड़ मारो … स्कूल में बच्चों का भविष्य बिगाड़ने वाले मास्टर को थप्पड़ मारो …. सड़क में बस में मेट्रो में बहनों को परेशान करने वाले लड़कों को थप्पड़ मारो …. हर बात में धमकी देने वाले नेता के चमचे को थप्पड़ मारो … और घोटाले करने वाले नेता को थप्पड़ मारो …. पर नहीं,  गुलाम हो तुम, डरपोक हो तुम, तुम सिर्फ आम आदमी को मार सकते हो, अरविन्द को मार सकते हो…

Shikha Singh : केजरीवाल साहब तो soft target है इसीलिए जो भाड़े का टट्टू, आया बजा कर चला गया, ना कोई security ना कोई घेरा ना कोई रोकटोक. अब कहीं चिदंबरम जैसे दलालों, मोदी जैसे हत्यारों, पवार जैसे चोरों, अमित शाह जैसे गुंडों, राजा कलमाड़ी जैसे महानुभावों को थप्पड़ लगाते तो कीमा बन जाता हमलावर का.

Surendra Grover : इस तरह हर दूसरे तीसरे दिन थप्पड़ मार कर खुद का नुकसान कर रहे हो.. इतनी ही नफ़रत है उससे और ज्यादा ही परेशान हो तो किस्सा ही खत्म करवा दो.. वैसे इतनी नफ़रत किसी परम्परागत राजनेता से तो नहीं की आपने और न ही उसे दुश्मन समझा.. अंदरखाने की इस मिलीभगत को सब समझ रहे हैं..

रियाजत खान, शिखा सिंह और सुरेंद्र ग्रोवर के फेसबुक वॉल से.


इसे भी पढ़ें…

कार्पोरेट से जो लड़ेगा, सिस्टम को जो एक्सपोज करेगा, भ्रष्टाचार की दुकान जो बंद कराएगा, वह ऐसे ही थप्पड़ खाएगा

xxx

हमलावर को मौके पर ही जान से मार डालो, वरना गनर विहीन राजनीति हमेशा के लिए फेल हो जाएगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *