कांग्रेस सांसद प्रवीन सिंह ऐरन पर क्यों इतना मेहरबान है अमर उजाला बरेली?

अमर उजाला में अशोक अग्रवाल के शेयर लगता है बरेली से कांग्रेस के सांसद प्रवीन सिंह ऐरन ने खरीद लिए हैं। लम्बे समय से बरेली में ये चर्चा आम रही है। वहीं दो महीने से खुद अमर उजाला इसे साबित करने में लगा हुआ है। श्री वीरेन डंगवाल के समय में बरेली में अपनी ख़ास पहचान बनाने वाला अमर उजाला दो महीने से कांग्रेस सांसद प्रवीन सिंह ऐरन के सामने जिस तरह से नतमस्तक है उससे तो यही लग रहा है कि राजुल माहेश्वरी के साथ ही प्रवीन सिंह ऐरन भी अमर उजाला के मालिक हैं।

प्रवीन सिंह ऐरन का अखबारी दुनिया से पुराना नाता है। इनकी पत्नी पीटीआई में चीफ रिपोर्टर थीं औऱ वहां की नौकरी करते समय ही बरेली की मेयर चुनी गयीं। प्रवीन के भाई की पत्नी सुनीता ऐरन हिन्दुस्तान टाइम्स लखनऊ की आरई हैं तो खुद प्रवीन बरेली से छपने वाले 'विश्व मानव' के मालिक हैं।

दो महीने से अमर उजाला बरेली में प्रवीन को दूसरी बार सांसद बनाने के लिए लगातार एकतरफा खबरें छाप रहा है। अगर पूरे पेपर में राजनीति की 20 ख़बरें होती हैं तो उसमें बहुमत में प्रवीन की होती हैं। प्रवीन की पत्नी ने मेयर रहते हुए क्या काम करे, इसके लिए उमर उजाला ने बाकायदा मुहिम चला रखी है।

बरेली में अमर उजाला के संपादक दिनेश जुयाल जहां विश्वमानव गाज़ियाबाद में प्रवीन के साथ काम कर चुके हैं वहीं सिटी चीफ पंकज सिंह तो हिंदुस्तान में रहते हुए ही प्रवीन के खास थे। पंकज को प्रवीन ने पहले उमर उजाला ज्वाइन कराया फिर उन्हे मेरठ से बरेली बुला कर चुनाव में लगाया। समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के नेताओं ने अमर उजाला में हंगामा कर अख़बार को प्रवीन सिंह द्वारा खरीदने का आरोप भी लगाया।

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए मेल पर आधारित।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *