Congress Bureau of Investigation उर्फ CBI

Dilnawaz Pasha : हा हा हा…राजीव शुक्ल कह रहे हैं- इन छापों के लिए सरकार की तरफ से न कोई संदेश था, न संकेत था, न इशारा था और न ही कोई इरादा था…हम इन छापों की निंदा करते हैं…इस पर कार्रवाई होगी.. तो राजीव शुक्ल जी, अब तक सीबीआई सरकार के इशारों पर काम कर रही थी और विशेष इरादों के तहत सरकार सीबीआई से छापे डलवाती रही है…

Aam Aadmi Party : CBI raid on Stalin? A day after withdrawal of support? And then govt claims CBI is independent? Reason being given for CBI raid – violation of custom duty on some imported car. But that should be custom department's job, not CBI. Since when did CBI start conducting raids for custom duty violation? I have no sympathies for Stalin, but centre's action is highly suspicious. That's the reason they don't want to make CBI independent. I strongly disapprove of CBI action on DMK leader Stalin, says Finance Minister P Chidambaram. Wah, kya baat hai ji. Khud raid karai, khud hi disprove karte hain? Aapko kya lagta hai, saara desh bewakoof hai, bas aap hi sayane hain? – Arvind Kejriwal… स्टालिन पर सीबीआई का छापा? समर्थन वापसी के एक दिन बाद ही? और सरकार कहती है कि सीबीआई स्वतंत्र है? छापे का कारण दिया गया कि आयातित कार पर वाजिब कस्टम ड्यूटी नही दी गयी, पर ये तो कस्टम विभाग का काम है, सीबीआई का नही! सीबीआई ने कब से कस्टम ड्यूटी की अवहेलना पर छापे मारने शुरू कर दिए हैं? मुझे स्टालिन से कोई सहानुभूति नही है, पर केंद्र का कार्य संदिग्ध है! यही कारण है कि वो सीबीआई को स्वतंत्र नही करते!.. अरविंद केजरीवाल

Pankaj Jha : दो खबर. करुणा पुत्र स्टालिन के घर सीबीआई छापा. तृणमूल फिर से यूपीए को दे सकता है समर्थन. वास्तव में हम कमीनों के लोकतंत्र में रह रहे हैं.

Akash Baranwal : अगर बिदेशी कार लाने पर करूणानिधी के बेटे के घर पर CBI का छापा पड सकता है तो बिदेशी दुल्हानिया लाने पर राजीव गाँधी के घर क्यो नही ll

Akash Baranwal : साईं भक्त लोग अपनी कार के पीछे लिखवाते हैं… "सबका मालिक एक" …कांग्रेसी नेताओं को अपनी- अपनी कार के पीछे लिखवा लेना चाहिए… "सबकी मालकिन एक"

Akash Baranwal : Aaj karunanidhi ke bete stalin ke ghar par pade CBI ke chhape ne saaf kar diya ki CBI bhi  congress ki kathputli hi hai………abhi do din pahle hi karunanidi ne apna samrthan UPA se wapas liye the

Manish Sharma : कल जिस तरह समर्थन वापस लेते ही करुणानिधि के बेटे के घर सीबीआई ने छापा मारा है उससे यह एक बार फिर साबित हो गया की माया-मुलायम का केंद्र सरकार को समर्थन, सांप्रदायिक शक्तियों को सत्ता में आने से रोकने के लिए नहीं बल्कि सीबीआई को अपने घर में आने से रोकने के लिए है। ''अगर नहीं कांग्रेस का साथ, तो तुरंत पडेगा सीबीआई का हाथ''

Umashankar Singh : दुश्मनी के हथियार दोस्ती के दिनों में ही इकट्ठा किए जाते हैं। Dushmani ke hathiyar dosti k dono hi ikathta kiye jate hai #Cong-DMK/CBI Raid

Jagadishwar Chaturvedi : इधर प्रधानमंत्री ने द्रमुक के पांच मंत्रियों का इस्तीफा मंजूर किया, उधर करूणानीधि के बेटे एम. के स्टालिन के घर छापा पड़ा।

Jagadishwar Chaturvedi : वित्तमंत्री पी.चिदम्बरम् ने स्टालिन के यहां सीबीआई के छापे मारे जाने पर आपत्ति सरेआम प्रकट की है। यह सीधे सीबीआई के काम में हस्तक्षेप है। क्या पीएम एक्शन लेंगे ?

Arbind Jha : सीबीआई ने स्टालिन के घर सहित 11 स्थानों पर छापेमारी की कार्रवाई की है… लो जी कर लो बात सिर्फ 11 जगह ही किउ भाई पूरा DMK के यहाँ मरता छापा Congress Bureau of Investigation

आदेश शुक्ला : नादान परिंदे घर आ जा…. सी बी आई करूणानिधि से अपनी स्टाइल में

शशांक शेखर : सीबीआई माने भारत का कोढ…..

Priyabhanshu Ranjan : CBI raids at DMK patriarch's son M K Stalin residence is a direct message to those who are  supporting (from outside or inside) Congress led UPA Govt.

Sharad Tripathi : A suggestion to President of India- let the govt. now on be lead by the CBI director! Isn't it that they have helped govt. survive and Will also do in future !!!

Sharad Tripathi : The timing of CBI raids on Stalin raises doubt ! Or they got info of his car smuggling just after DMK withdrew support to Congress!!! Do our intelligence agencies sit like this on terror information also so that they may be exploited at an opportune time !!!

Bhavesh Kr Pandey Vinay : करूणानिधि के बेटे के घर पर CBI छापा । ये तो होना ही था . . .

Alok Nandan : सीबीआई तो सरकारी भाई लोग है बाप ! सरकार से पंगा किया नहीं कि खर्चा-पानी देने के लिए भेज दिया जाता है…

Samar Anarya : Indian democracy approves CBI as 5th pillar after raids on #Stalin of #DMK. Considering to revoke Pillar status of Radiagate fame media.

Yogesh Garg : स्टालिन पर पड़े छापो का कारण CBI का कांग्रेस द्वारा दुरुपयोग करना बताया जा रहा है तो फिर मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा पर इसका उपयोग क्यो नही हो रहा । क्या आपको कोल स्केम याद नही आ रहा ?

Yogesh Garg : CBI के दुरुपयोग की संभावना से इन्कार नही किया जा सकता लेकिन अपने ही खेमे के दलोँ के खिलाफ ? इस 'हथियार' का इस्तेमाल विपक्ष खास तौर पर भाजपा को चित करने के लिये क्यूँ नही हो रहा ? क्या इस पर दो मुख्य दलो की परस्पर सहमति है कि एक दूसरे को CBI के डंडे से स्वतंत्र रखेगेँ और बाकि दलो को हड़काते रहेगेँ ?

Samarth Saraswat : सीबीआई का ये छापा करूणानिधि को धमकाने के लिए नहीं बल्कि मुलायम जी और मायावती जी को यह बताने के लिए था, कबूतरों आखिर शिकारी हम हैं और बंदूक हमारे हाथ में हैं। उड़ कर कहीं और जाओगे तो शूट कर दिए जाओगे।

Shivam Bhardwaj : कल डीएमके ने खुद को केन्द्र सरकार से अलग किया और आज कर चोरी के एक पुराने मामले में सीबीआई ने चेन्नई में डीएमके प्रमुख करुणानिधि के पुत्र व पार्टी के दूसरे सबसे शक्तिशाली नेता समझे जाने वाले एम के स्टालिन के घर पर छापा मार दिया… जय हो सीबीआई !

Raj Kamal : सपोर्ट वापस लेते ही करुणानिधि के बेटे के घर सीबीआई ने मारी रेड… केंद्र की यूपीए सरकार से समर्थन वापस लेने के 24 घंटे के भीतर ही डीएमके नेता करुणानिधि के परिवार पर सीबीआई ने शिकंजा कसना शुरू कर दिया। गुरुवार तड़के साढ़े पांच बजे छह सदस्यों की सीबीआई टीम ने चेन्नै में करुणानिधि के बेटे एम. के. स्टालिन के घर पर छापा मारा। आरोप है कि स्टालिन के प्रड्यूसर बेटे उदयनिधि ने विदेशी गाड़ी मंगवाई है, लेकिन इसकी ड्यूटी नहीं चुकाई है। इसी सिलसिले में सीबीआई कार्रवाई कर रही है। मामला विदेशी गाड़ी की खरीद से जुड़ा है। आरोप है कि स्टालिन के प्रड्यूसर बेटे उदयनिधि ने हमर गाड़ी के इंपोर्ट पर ड्यूटी नहीं चुकाई है। इस मामले की जांच डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) कर रही थी। बताया जा रहा है कि डीआरआई ने इस मामले में जांच में सहयोग के लिए सीबीआई को कहा था। सीबीआई ने इस मामले में जिस तेजी से केस दर्ज कर रेड मारी है उससे सवाल उठने लगे हैं। सीबीआई ने लंबे समय से ऐसे किसी मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है। सीबीआई की टीम सुबह साढ़े पांच बजे स्टालिन के घर पहुंची और उनके बेडरूम तक पहुंच गई। सूत्रों ने बताया कि स्टालिन से हमर के कागजात मांगे गए। गाड़ी खरीदने के लिए पैसे कहां से आए, इस बारे में भी पूछताछ की जा रही है। सीबीआई की इस कार्रवाई के बाद तय है कि आज संसद में जोरदार हंगामा होगा। डीएमके के सांसद इस मामले को उठाएंगे।

Harishankar Shahi : विश्व की सबसे भोली भाली जांच एजेंसी सीबीआई है. अरे जिसे नहीं मानना हो वह इसके कार्यकलाप को देख ले. यह इतने भोले हैं की अचानक मामला दर्ज कर लेते हैं या जांच करने लगते हैं. अभी देखिये डीएमके ने दो दिन पहले समर्थन वापस लिया है. और आज ही डीएमके प्रमुख करूणानिधि के बेटे एमके स्टालिन जो एक तरह से डीएमके के दुसरे सबसे बड़े नेता है, उनके ऊपर कारों की आयात से जुड़े मामले में सीबीआई जुट गई. अब कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार से समर्थन वापस लेने और सीबीआई की इस कार्यवाही में कोई समानता नहीं होगी ना. अब इसी को सीबीआई का भोलापन कहते हैं कि वह जान ही नहीं पाती है की लोग गलत अंदाजा लगा लेते हैं. भोली सीबीआई के यही तरीके कभी मुलायम, माया, गडकरी, करूणानिधि, जयललिता न जाने कितनो से होता हुआ इस बार स्टालिन तक पहुँच गया. अब लोग आरोप लगाएंगे कि यह सब इस जांच संस्था का गलत इस्तेमाल है. लेकिन यह तो सीबीआई का भोलापन है समझिए…

Braj Bhushan Dubey : क्‍या केन्‍द्र सरकार से अपना समर्थन वापस लेंगे मुलायम सिंह? आपका बहुलता में जबाब होगा, नहीं। वे ऐसा कर ही नहीं सकते। यदि मुलायम सिंह जी समर्थन नहीं लेते हैं तो क्‍या बेनी प्रसाद वर्मा का सार्वजनिक रूप से किया गया अभिकथन सत्‍य है कि, मुलायम सिंह केन्‍द्र सरकार को चलाने के लिये कमीशन लेते हैं। दोहरे चरित्र के धारक ये राजनेता भीतर से कुछ और तथा बाहर से कुछ और दीखते हैं। एफ0डी0आई0 और महगाई के सवाल पर भारत बन्‍द कर आम जनता के लिये मुसीबत खडा करेंगे, अविश्‍वास प्रस्‍ताव के समय सदन से वाक आउट करेंगे। किन्‍तु समर्थन देते रहेंगे। बडी बेहयायी से जबाब देंगे कि यदि समर्थन वापस ले लिया तो भाजपा जेसे साम्‍प्रदायिक दल को इसका लाभ मिलेगा। मुलायम सिंह के इस बयान पर भाजपा के अध्‍यक्ष राजनाथ सिंह का बयान था कि मुलायम सिंह जी बेफिक्र रहें हम सरकार नहीं बनायेंगे, वे समर्थन वापस लें। राजनाथ जी के इस कथन पर भाजपाइयों को नाल मढाने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि वे यही लोग हैं जिन्‍होने डिम्‍पल के सम्‍मान में समस्‍त बेहयायी की सीमाओं को लांघते हुये अपना प्रत्‍याशी नहीं खडा किया था।

Deepak Singh : रेड वापस भी ली जा सकती हैं? अरे भाई यह बताओ पहले अगर सरकार का कोई दखल नहीं होता सीबीआई के काम में तो फिर रेड वापस क्यों ले ली गयी? जब कांग्रेस के मंत्री ने उसे अस्वीकृत किया , यह चिदंबरम के मंत्रालय का मामला था भी नहीं ? अब रेड डालने गए लोगो को किसी एक बात पर निलंबित करना होगा. * एक सांसद के घर पर रेड डालने के लिए , वह भी बिना अपने डायरेक्टर को बताये। या * अगर रेड किसी वजह से डाली गयी थी , तो उसे वापस क्यों लिया गया राजनेताओ के दबाव में ? सीबीआई के लोग नेताओ के दबाव में क्यों आई। इनके खिलाफ तो मामला बनता हे की उन्होंने अपनी ड्यूटी पूरी नहीं की।

Sanjay Sharma : समाजवादी पार्टी की बैठक से पहले ही स्टालिन के घर पर छापे ने सपा का सारा गणित ही बिगाड़ दिया ..बेचारे नेता जी ..समझ ही नहीं पाए कि सीबीआई अब कांग्रेस बचाओ इन्वेस्टीगेशन बन गई है ..अब तो मज़बूरी है बेटे ,बहू को सीबीआई से बचाना है तो समर्थन देना है.

फेसबुक पर आईं अलग-अलग टिप्पणियों का संकलन.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *