विश्व पुस्तक मेले में पाइए “दलित दस्तक”

: हॉल नंबर 18 के स्टॉल नंबर S1/5 पर मिलेगी पत्रिका : दलित मुद्दों को पुरजोर तरीके से उठाने वाली हिन्दी मासिक पत्रिका "दलित दस्तक" विश्व पुस्तक मेले में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करा रही है। दलित दस्तक को हॉल नंबर- 18 में स्टैंड नंबर S 1/5 आवंटित हुआ है। यह वाणी प्रकाशन के बगल में स्थित है। इस स्टैंड पर दलित दस्तक के हालिया फरवरी अंक सहित पिछले अंक भी मौजूद हैं। इसी क्रम में नई सूचना यह भी है कि पत्रिका के संपादक अशोक दास के साक्षात्कार का संग्रह "एक मुलाकात दिग्गजों के साथ" भी 21 फरवरी से दलित दस्तक के स्टाल पर उपलब्ध है।

इस साक्षात्कार संग्रह में अशोक दास ने दस हस्तियों का इंटरव्यू शामिल किया है। इस संग्रह में प्रख्यात दलित साहित्यकार ओमप्रकाश वाल्मीकि के जीवन का अंतिम साक्षात्कार भी है तो वहीं अपने लेखन के जरिए देश भर में अपनी एक खास पहचान बनाने वाले मुद्राराक्षस, जेएनयू के प्रख्यात समाजशास्त्री प्रो. विवेक कुमार, आरपीआई के अध्यक्ष और बाबासाहेब डॉ. आंबेडकर के पोते प्रकाश आंबेडकर, भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के अध्यक्ष प्रो. संजय पासवान, योजना आयोग के सदस्य एवं अर्थशास्त्री नरेंद्र जाधव, बौद्ध चिंतक एवं साहित्यकार आनंद श्रीकृष्ण सहित सम्यक प्रकाशन के शांति  स्वरूप बौद्ध, नैक्डोर के चेयरमैन अशोक भारती एवं ईंट भट्टे से कलेक्टर के पद तक पहुंचने वाले एस. आर. लाखा का इंटरव्यूह है।

गौरतलब है कि अशोक दास ने 2005-06 बैच में भारतीय जनसंचार संस्थान (IIMC) से पत्रकारिता की पढ़ाई की है। इससे पहले वह लोकमत और अमर उजाला जैसे अखबारों से जुड़े रहे हैं। अशोक दास यशवंत सिंह के निर्देशन में भड़ास4मीडिया से भी जुड़े रहे हैं। वर्तमान में वह नागपुर से प्रकाशित दैनिक देशोन्नति अखबार के राजनीतिक संवाददाता के पद पर काम कर रहे हैं। साथ ही www.dalitmat.com नाम से एक वेबसाइट का संचालन एवं मासिक पत्रिका दलित दस्तक का संचालन कर रहे हैं। दलित दस्तक मई 2014 में अपने दो साल पूरे कर लेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *