Fraud Nirmal Baba (55) : छोटे निर्मल बाबा आज भी न्यूज चैनलों पर कायम हैं : रवीश कुमार

Ravish Kumar :  धनिया खाकर निकलो काम बन जाएगा… पीले कपड़े में लौंग रखो… न्यूज़ चैनलों पर रोज़ ऐसे ज्योतिषी बैठे होते हैं। निर्मल ने उसी को विस्तार दिया। निर्मल पर हमला मगर उन ज्योतिषियों पर चुप्पी? छोटे निर्मल बाबा आज भी चैनलों पर क़ायम हैं। फिर भी वीकेंड में मीडिया का सरोकार लौटा है तो एन्जॉय कीजिए। कल से वर्किंग डे हो जाएगा। धनुष राशि वाले मेष राशि के संपादक से लफड़ा न करें। या तो बीट बदल जाएगी या ख़बर गिर जाएगी।

        Surjit Pal Don pakda giya, lekin Geroh ko pakdana mushkil hi nahi namomkin hai.
 
        Monalisa Singh aap mesh rashi hain aur dhanu rashi kaun hain?hehehehe
 
        Arvind Batra DHRM ke naam par andhvishwasi karmkand parosane wale channels ab Nirmal ko kos rahe hain.. aesi kripa to satya sai bhi karte rahe aur nirmal se hazaron guna bada empire khara kar diya. Kya koi progressiv govt is sab par blanket ban laga sakti hai ? Nahin, kyonki bahut se rajneta bhi is sab gorakhdhande ke grahak hain. Shyad 15-20% se jyada log nahin honge jinhe ye kripa-dhande main koi khot nazar aata ho.
   
        Arvind Batra rajnetaon ke sath media-malik, abhineta, dhanna seth aur naukarshahi bhi kripa lene mein khub vishwas karti hai. Chamatkar or out-of-turn!! prabhu-kripa to lagbhag sabhi uchcha aasin logo ko chahiye.
   
        Satish Pancham बेलमुंड वाले को तो देखते ही खोपड़ी सटक जाती है 🙂
    
        Umesh Dwivedi Ramdeov har 15 din mai news chanello ki ADALAT mai aate hai…vo tau ab ECONOMICS ke BABA ho gaye hai…nirmal kau jyda waqt nahi mila nahi tau vo bhi 2-3 mudde kale dhan ke utha dete, Annaji ke sath manch par aajate….phir himmat hoti kisi ki…..
     
        Satyendra Choudhary nirmal baba ab nirmal nahi rahe………….
      
        अजित कुमार उन निर्मल बाबाओं का क्या जो कोट-टाई पहन कर परेशान बेरोजगारों से मोटी फीस लेकर बड़े-बड़े सभागारों में जीवन में सफलता, खोया आत्मविश्वास कैसे पायें, अपने अन्दर के हीरे को पहचानें आदि विषयों पर बेमतलब का भाषण और ऐसे उपाय बताते हैं जो खुद उन्होंने कभी नहीं आजमाए हैं. ऐसे लोग ठग नहीं हैं क्या या वो अंग्रेजी बोलते हैं इसलिए किसी की हिम्मत नहीं है उनपे सवाल करने की ? क्या इन अंग्रेज बाबाओं के बताये उपायों की प्रामाणिकता सिद्ध हो चुकी है ? क्या उनके बताये आधुनिक टोटके अन्धविश्वास की श्रेणी में नहीं आते ? है कोई ऐसा जिसने इन मोटिवेशनल गुरुओं की सलाह मान कर अपना जीवन सफल कर लिया हो ? यदि नहीं तो फिर पोल-खोल में ये भेदभाव क्यूँ ?
       
        Umesh Dwivedi Nirmal bevkuf nikla….eak dau andolan sarkar ke khilaf kar dete…sare pap dhul jate….aaj Ramdev ke khilaf kuch bhi kare vo kah deta hai ye sarkar ki sajish hai….Balkrishn jo ki Ramdev ka chela hai sarkar kuch nahi bigad payi…
        
        Vishnu Agrawal चेतावनी के लिए धन्यवाद. जगाते जागते रहो मित्रो… मेष राशी वालों की खोज हो रही है विदेशी दौरे के लिए !
         
        Sukumar Choudhary Kitne babaon ne kitne ke betiyon – bahuon ki izzat looti , dhan daulat le ke bhage , kitne babaon ke kukarmon ka pardafas hua fir v is desh mein baba paida ho rahe hain aur public sar aankhon pe leke ghum rahi hai. baba ki galti kam janta jabardast doshi hai. Nirmal baba jaise dongi aate hi rahega kyonki public ko babaon se lutne mein maja aata hai.
         
        Vineet Kumar हा हा, मुझे उन संपादकों,प्रोड्यूसर का ध्यान आता है जो ज्योतिष के कार्यक्रम की शूटिंग के बाद हाथ पसारे शो के बाबा के सामने पहुंचते थे..वही सिंह राशिवाले मीन राशि के संपादक को मीन बताने के लिए..
         
        Izhar Ahmad Electronic Media me na koi Policy hai na koi Soch … kabhi kaal , kapal, kankal dikhate hain to kabhi Dharm aur kabhi Jyotish ki science bata kar .. local language me kahoon to media me BHASAD machi huyee hai… Jabki hum bahut badi crisis .. ko face karne ja rahe hain , hamara system collapse hone laga hai , future ki ko planning nahi 125 crore log hain …. resources hain nahi , jo hain osko govt barbad kar rahi hai . population control par koi bolna nahi chahta. na govt. na media na tv wale intellectuals.
         
        Umesh Dwivedi ‎@ ijhar ahmad- bahut sahi kaha aapne- Ravishji se request hai ki vo yadi population control par lagatar apne programm dikhaye aur eak beeda uthaye…desh mai jan jagrti laye…
         
        Mukesh Popli मैंने तो यह भी सुना है कि सभी चैनल वाले ऐसे ज्‍योतिषियों से पहले कुछ लाख रुपए ऐंठते हैं एंट्री के लिए और बाद में जब और कमाई होती है तो उसमें से भी हिस्‍सा लेते हैं। ऐसे ज्‍योतिषी तो ऐसी ही सलाह देंगे। चैनल वालों को तो कमाई करनी है, अफसोस इस बात का है कि मीडिया का काम है समाज को आगे ले जाना, मगर आजकल के चैनल…..तौबा
         
        Arvind Gupta media ki haquiquat janta jaanti hai.
         
        Scharada Dubey Ab chanda bator ke janta ko prime time mein channelon par samay kharidkar jyotish ka ek badhiya programme karna chahiye – jo media ke bhavishya ke cheethade uda de…
         
        Girindranath Jha ‎:)
         
        Renu Khushi Pari ekdam sach kaha aapne..
         
        Sneha Chauhan yahi to ho raha hai……….or hota rahega……..

टीवी जर्नलिस्ट रवीश कुमार के फेसबुक वॉल से साभार.


सीरिज की बाकी खबरों के लिए यहां क्लिक करें- Fraud Nirmal Baba

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *