भाजपा प्रवक्ता GVL Narasimha Rao काला धन खपाने का धंधा करता है!

NEWS EXPRESS द्वारा ‎OperationPrimeminister‬ में 11 कंपनी का पर्दाफाश किया गया था, उसमे से एक कंपनी थी DRS, India। उसमे Diwakar Srivastava (COO,DRS) को फ़र्ज़ी ओपिनियन पोल करने के लिए हाँ कहते हुए दिखाया गया था। साथ ही वह फ़र्ज़ी ओपिनियन पोल के लिए काला धन लेने तक के लिए तैयार था। जब आम आदमी पार्टी के वालंटियर ने इस कंपनी कि छानबीन करना चाहा था तो हमने पाया की इस कंपनी का Chairman and Managing Director कोई और नहीं BJP का ही एक बड़ा नेता और प्रवक्ता G V L Narasimha Rao निकला।

कंपनी की वेबसाइट http://www.drsindia.org/our-team.php में इनकी तस्वीर और मैनेजिंग डायरेक्टर के रूप में इसका विवरण था| परन्तु जैसे ही इस पर हल्ला हुआ, इस भाजपाई नेता ने अपनी वेबसाइट से अपना और Diwakar दोनों का नाम हटा लिया| अब अगर आप इस पेज http://www.drsindia.org/our-team.php को देखेंगे तो वह इनका नाम गायब दिखेगा| परन्तु यह मंदबुद्धि नेता यह भूल गए की इंटरनेट कि दुनिया में सच छुपाना इतना आसान नहीं हैं| आप किसी भी वेबसाइट के पुराने पेज कि CACHED COPY को इंटरनेट से निकाल सकते हैं| ऐसा ही कुछ आम आदमी पार्टी के वालंटियर ने कर दिखाया|

अगर आप भी यह जांचना चाहते हैं तो http://www.cachedpages.com/ पर जाए और URL BOX में http://www.drsindia.org/our-team.php में एंटर करो और गूगल कैश बटन पर क्लिक करो और देखो यह महाशय इस कंपनी में मैनेजिंग डायरेक्टर थे पर मामला जब मीडिया में आया तो अपना नाम छुपाने के लिए वेबसाइट से अपनी डिटेल डिलीट करवा दी|

क्या G V L Narasimha Rao बताना चाहेंगे आखिर क्यों आनन्-फानन में वेबसाइट से यह जानकारी डिलीट कर दी गई? क्या यह कंपनी रजिस्टर्ड हैं ? क्या G V L Narasimha Rao अपने आयकर रिटर्न में इससे होने वाली आमदनी को दिखाते हैं? हमे शक हे कि G V L Narasimha Rao चोरी-छीपे यह धंधा चला रहे थे जिसमे बहुत सा काला धन खपाया जा रहा था|

फेसबुक पर संचालित Arvind Kejriwal-Youth Icon Of India नामक पेज से साभार.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *