हाथरस में पुलिस द्वारा पीटे गए पत्रकारों को मिलेगा मुआवज़ा

नई दिल्ली। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग(एनएचआरसी) ने उत्तर प्रदेश के हाथरस जिले में, दो साल पहले पुलिस द्वारा मीडियाकर्मियों को बेवजह पीटे जाने के मामले में मुआवज़ा देने का निर्देश दिया है। आयोग ने हाथरस के पुलिस अधीक्षक को दो अखबारों और न्यूज चैनल्स के सात पत्रकारों को मुआवज़ा देने को कहा है। पीड़ित पत्रकारों को मुआवज़े के रूप में 2,89,612 रुपये दिए जाएंगे

सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी के जवाब में जिलाधिकारी हाथरस ने कहा है एनएचआरसी के निर्देश पर पुलिस अधीक्षक को मीडियाकर्मियों को मुआवजा देने को कहा गया है। एनएचआरसी ने हाथरस-आगरा रोड स्थित पॉलिटेक्निक कॉलेज के करीब फरवरी, 2012 में पुलिस द्वारा मीडियाकर्मियों से की गई मारपीट के आरोप को सही पाया है। जिलाधिकारी ने जवाब में बताया कि पुलिस क्षेत्राधिकारी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि मीडियाकर्मी अपने नुकसान के संबंध में कोई साक्ष्य प्रस्तुत नहीं कर सके हैं। ऐसे में इस क्षतिपूर्ति का भुगतान पुलिस अधीक्षक हाथरस के माध्यम से कराया जाए।
 
आरटीआई कार्यकर्ता गौरव अग्रवाल की आरटीआई के जवाब में जिलाधिकारी ने कहा कि दो राष्ट्रीय अखबारों और चैनल के सात पत्रकारों को यह मुआवज़ा दिया जाएगा। गौरतलब है कि पुलिस-कर्मियों और पुलिस-अधिकारियों के बीच हुई भिड़ंत में मीडियाकर्मियों से पुलिस ने मारपीट की था। इस दौरान पत्रकारों के वाहन व कैमरों को नुकसान हुआ था और कई पत्रकार घायल हो हुए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *