थ्री-डी अवतार में वोट मांगे मोदी ने, लेकिन तकनीकी गड़बड़ी ने बिगाड़ा खेल

गुजरात में चुनाव प्रचार में थ्री डी तकनीक का इस्तेमाल करने का मुख्‍यमंत्री नरेंद्र मोदी का दांव कमजोर साबित होता दिख रहा है. बार-बार आवाज गायब होने से सूरत में लोग मोदी की सभा छोड़कर चलते बने.  गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को थ्री डी तकनीक से प्रचार का आगाज किया. मोदी खुद गांधीनगर में थे, लेकिन एक ही समय में मोदी ने गुजरात के चार शहरों में जनसभा की.

मोदी के भाषण को लोग अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और राजकोट में देख पा रहे थे. बड़े मैदानों में लगी स्क्रीन पर मोदी का लाइव टेलीकास्ट हुआ.  मोदी की इस अनोखी जनसभा को देखने के लिए लोग भी काफी उत्सुक दिखे. लेकिन बार-बार आवाज गायब होने से लोग भी परेशान हो गए.  सूरत में तो पहले ही भीड़ कम थी ओर जब थ्री डी प्रचार में थोड़ी दिक्कत हुई तो बचे-खुचे लोग भी उठ कर जाने लगे.

तकनीकी दिक्कतों के बावजूद नरेंद्र मोदी ने केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. कांग्रेस के उस बयान का भी जवाब दे दिया जिसमें उनकी तुलना बंदर से की गई थी.  उन्‍होंने कहा, 'ये मोदी तो चूहा है चूहा. आपको चूहे का महत्‍व पता नहीं. अरे चूहा तो विघ्‍नहर्ता गणेश जी का वाहन है. मुझे गर्व है कि हमारी पीठ पर विघ्‍नहर्ता गणेश विराजमान होते हैं. और इस वजह से गुजरात में कोई विघ्‍न नहीं होता है.'

हालांकि इस तकनीकी गड़बड़ी से मोदी के प्रचार पर पानी फिरता नजर आ रहा है, लेकिन न मोदी के प्रशंसक मायूस हैं और ने ही उनके लिए 'बिग बॉस' छोड़कर आए नवजोत सिंह सिद्धू.  बीजेपी सांसद नवजोत सिंह सिद्धू के मुताबिक, इस तरह से थ्री डी प्रचार विश्‍व में पहली बार हुआ है. इतिहास बना है. गिनीज बुक ऑफ वर्ल्‍ड रिकॉर्ड में जोड़ने वाले को मान मिलता है और तोड़ने वाले को मान. मोदी ने सर ने विज्ञान का सहारा लेकर लोगों और दिलों को जोड़ा है.  गौरतलब है कि गुजरात में 13 और 17 दिसंबर को मतदान होना है. नतीजे 20 दिसंबर को आएंगे. (एबीपी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *