सुरक्षा कानून की मांग को लेकर सड़कों पर उतरे महाराष्ट्र के पत्रकार

पत्रकार हमला विरोधी कृती समिति के नेतृत्व में पूरे महाराष्ट्र में कल पत्रकारों ने जिला सूचना अधिकारियों के ऑफिसों का  घेराव किया। समिति के अध्यक्ष एसएम देशमुख ने एक प्रेस नोट जारी कर बताया कि आन्दोलन सफल रहा। मुंबई, पूना समेत राज्य के 35 जिले में पत्रकार सड़कों पर उतर आये। राज्य का मुख्य आंदोलन पूना में एसएम देशमुख के नेतृत्व में किया गया। पत्रकारों को संबोधित करते हुए देशमुख ने कहा कि, डीआईओ ऑफिस घेराव आंदोलन को अगर सरकार ने गंभीरता से नहीं लिया तो अगले कुछ दिनो में इससे भी उग्र आन्दोलन किया जाएगा। राज्य के पत्रकारों को सड़कों पर उतरने के लिए राज्य की सरकार ही मजबूर कर रही है। यह स्थिती लोकतंत्र के लिए अच्छी नहीं है। पुना के इस आन्दोलन में जिले से आय़े 200 पत्रकार सम्मिलित हुए। बाद मे मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन जिला सूचना अधिकारी को दिया गया। राज्य में सभी जगह आंदोलन शांतिपूर्ण रहा।

ज्ञात हो कि महाराष्ट्र में पत्रकारों के उपर बढ़ते हमले रोकने के लिए, 'पत्रकार सुरक्षा कानून' बनाने की मांग को लेकर, राज्य के पत्रकार पिछले पांच साल से आंदोलन कर रहे हैं। लेकिन सरकार इस आंदोलन की अनदेखी करती आयी है। सरकार के इस रुख़ से नाराज़ पत्रकारों ने जिला मुख्यालयों स्थित सूचना कार्यालयों के घेराव का ऐलान किया था।

 

Patrakar Halla Virodhi Kruti Samiti Mumbai. Email: phvksm@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *