उनके डांस वाली खबर दिखाने से नाराज़ थे आरपीएन सिंह, इसलिए पत्रकार से की बदसलूकी

कुशीनगर। मीडिया से खार खाये केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह उस समय एक पत्रकार पर बिदक उठे जब एक चैनल के रिपोर्टर ने मंत्रीजी की संवेदनहीनता को अपनें कैमरें में कैद करने का प्रयास किया। हुआ यह कि मंगलवार को केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री श्री सिंह अपने आवास पर मीडिया से वार्ता कर बाहर निकल रहे थे। उसी दौरान सात माह से सऊदी अरब से अपने पुत्र का शव मंगवाने प्रयास कर रहा एक पीड़ित श्री सिंह के पैरों पर गिरकर अपने पुत्र का शव मंगाने के लिए फरियाद करने लगा। रोते-बिलखते फरियादी के जख्म पर मरहम रखनें के बजाए मंत्रीजी अपना पैर झटकार कर आगे बढ़ गए। मंत्री के इस संवेदनहीनता को इलेक्ट्रानिक चैनल के एक पत्रकार ने अपनें कैमरे में कैद कर लिया। यह देखते ही केन्द्रिय गृह राज्यमंत्री बिदक उठे और अपना आपा खो बैठे। गुस्सें से तिलमिलाए मंत्रीजी पहले तो दांत पीसेते और कुछ बुदबुदाते हुए पत्रकार की ओर दौड़ पड़े। यह देख वहा मौजूद मीडिया के अन्य लोग सन्न रह गए। इससे पहले कि पत्रकार कुछ समझ पाते गृह राज्यमंत्री चैनल के उस पत्रकार को धक्का देकर अपनें परिसर से बाहर निकाल दिया। पत्रकार के साथ मंत्री द्वारा की गई बदसलूकी को पत्रकारों के विभिन्न संगठनों ने निन्दा की।

 
गौरतलब
है कि जनपद के नेबुआनौरंगिया थाना क्षेत्र के टेढी गांव के निवासी फेकू गुप्ता का पुत्र सऊदी अरब कमाने गया हुआ था जहा सात माह पूर्व उसकी मृत्यु हो गई। मृतक के पिता श्री गुप्त की मानें तो पुत्र की मौत की खबर सऊदी अरब से दूरभाष के जरिये उन्हे मिली थी। साथ ही वहा सें यह भी कहा गया था कि अपनें क्षेत्र के सांसद से फोन कराएं ताकि सारी औपचारिकताएं पूरी कर मृतक के शव को हिन्दुस्तान भेजा जा सके। अपने जिगर के टुकड़े की मौत की खबर सुन फेकू अपने होशों-हवास खो बैठा । खुद पर किसी तरह काबू पानें के बाद वह सीधे दिल्ली के लिए रवाना हो गया। दिल्ली पहुच कर मृतक के पिता फेकू क्षेत्रीय संसाद व केन्द्रिय गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह के दरबार में पहुंचकर अपनी दास्तान सुनाई। फेकू कहते है कि केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री ने उनकी व्यथा सुन आश्वासन दिया कि जल्द ही उसके पुत्र का शव सऊदी से हिन्दुस्तान मंगा लिया जायेगा।
     
समय
सें पहलें टूट चुके अपने बुढापे की लाठी का अन्तिम संस्कार करनें के लिए फेकू सात माह तक इधर-उधर भटकता रहा। इस दरम्यान केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री जब भी अपने गृह जनपद आये फेकू उनसें मिलकर पुत्र के शव की वापसी का गुहार लगाता रहा और हर बार मंत्रीजी मृतक के पिता को आश्वासन की घुट्टी पिलाते रहे है। मृतक के पिता फेकू गुप्ता का कहना है कि केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अगर चाहें तो उनके पुत्र का शव एक सप्ताह में ही स्वदेश वापस आ जायेगा। बावजूद इसके मंत्रीजी सात माह से सिर्फ आश्वासन देते आ रहे है।
        
सोमवार
को जनपद के विभिन्न कार्यक्रमों में शरीक होने के लिए केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अपने संसदीय क्षेत्र में थे। मंगलवार को तकरीबन ग्यारह बजे वह अपने आवास पर पत्रकारों से वार्ता करने के लिए रू-ब-रू हुए। बताया जाता है कि प्रेस कान्फ्रेन्स में विभिन्न चैनलों के रिपोर्टर भी आरपीएन सिंह के आवास पर पहुंचे हुए थे लेकिन श्री सिंह ने चैनल वालो से यह कहकर उन्हे बाहर रोक दिया कि वह पहले अखबारनवीसों से बात करगे उसके बाद इलेक्ट्रानिक मीडिया से वार्ता करेगें।
 
केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री श्री सिंह के मना करने के बाद इलेक्टानिक मीडिया के लोग दरबार परिसर में ही रूककर मंत्रीजी इन्तजार करनें लगे। इसी दौरान एक टीवी चैनल के रिपोर्टर की नजर वहा रो रहे पीड़ित फेकू पर पडा। टीवी चैनल के पत्रकार ने फेकू गुप्ता से रोने का कारण पूछा तो वह अपनी दुख भरी दास्ता सुनाकर बिलखने लगा। अखबारनवीसों से वार्ता कर केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री जैसे ही बाहर निकले फेकू उनके पैर पकड़ कर अपनें पुत्र के शव की वापसी के लिए गिड़गिड़ाने लगा लेकिन मंत्रीजी को उस पर तनिक भी तरस नही आया। वह अपना पैर झटकार कर आगे बढ़ गए। केन्द्रीय गृह रा़ज्यमंत्री की इस संवेदहीनाता को चैनल के पत्रकार हेमन्त चौरसिया ने अपनें कैमरे में कैद कर लिया यह देख केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री आरपीएन तिलमिला उठे और दांत पीसते हुए उस पत्रकार की तरफ दौड पडे। प्रत्यदर्शियों की मानें तो श्री सिंह चैनल के  रिपोर्टर श्री चौरसिया को खुद धक्का देते हुए कहने लगे ‘‘ मेरे गेट से बाहर चलिए, यह मेरा घर है सरकारी ज़मीन नहीं।’’

बीतों दिनों पडरौना नगर में आयोजित डान्स प्रतियोगिता के समापन के दौरान केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह ने मंच पर प्रतिभागियों एवं अतिथियों के साथ खूब ठुमके लगाए थे। इस खबर को अखबारों ने जहां प्रकाशित किया था वहीं विभिन्न चैनलों ने प्रमुखता से दिखाया था। ऐसी चर्चा है कि टीवी चैनलों पर चली व अखबार में प्रकाशित यह खबर मंत्रीजी को नागवार लगी थी। खासकर चैनलो पर चली श्री सिंह की डान्स की खबर क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी रही। यही वजह है कि श्री सिंह चैनल वालों से कुछ ज्यादा ही खफा थे और मौका मिलते ही एक चैनल के रिपोर्टर से बदसलूकी कर अपनी ताकत का एहसास कराया।

श्रमजीवी पत्रकार यूनियन, ग्रापए एवं जर्नलिस्ट प्रेस क्लब सहित पत्रकारों के विभन्नि संगठनों ने आरपीएन सिंह द्वारा टीवी चैनल के पत्रकार के साथ की गई बदसलूकी की घोर निन्दा की है।

 

संजय चाणक्य, कुशीनगर के पत्रकार हैं उनसे संपर्क मो0-09919528245 पर किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *