रुद्रपुर के पत्रकारों ने गले मिलकर गिले शिकवे दूर किए

रुद्रपुर। पत्रकारों के बीच चल रहे विवाद का शहर के पत्रकारों की बैठक में पटाक्षेप हो गया। बैठक में सभी पत्राकारों द्वारा पूरे मामले पर चर्चा करने के बाद आपस की गलत-फहमियों को दूर कर एक दूसरे के गले मिलकर एक साथ सहयोग कर काम करने का निर्णय लिया गया। उल्लेखनिय है कि पिछले दिनों शहर के पत्राकारों के बीच में मनमुटाव हुआ जिसका प्रशासन ने फायदा उठाते हुये पत्राकारों के उत्पीड़न में कोई कमी नहीं छोड़ी। प्रशासन के साथ-साथ शहर के अन्य लोगों ने भी पत्राकारों की आपस की लड़ाई का फायदा उठाया।

इस सबंध में सिचांई विभाग गेस्ट हाऊस में सभी पत्रकारों की बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में निर्णय लिया गया कि कोई भी पत्रकार आपस के किसी भी मामले में प्रशासन के पास न जाकर वरिष्ठ पत्राकारों के बीच रखेगा। इसके अलावा कोई भी पत्रकार किसी के खिलाफ द्वेष भावना से काम नहीं करेगा। सभी पत्रकार एक दूसरे का सहयोग करेगें तथा शहर की भ्रष्ट राजनीति, भ्रष्ट अफसरशाही एवं नाकाम प्रशासन के खिलाफ अपनी कलम की लड़ाई एक साथ मिलकर लड़ेगे।

पत्रकारों के बीच हुये एक विवाद में अब तक की कार्यवाही को सभी पत्रकार एक साथ मिलकर समाप्त करा देंगे। भविष्य में प्रशासन ने किसी भी पत्रकार के खिलाफ कोई झूठी कार्यवाही की तो सभी पत्रकार मिलकर प्रशासन के खिलाफ खड़े होगें। बैठक में सभी पत्रकारों द्वारा आपसी मनमुटाव भुलाकर एक दूसरे के गले मिल सहयोग का आश्वासन दिया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार बीसीसिघल, अनिल चैहान, कमल श्रीवास्तव, मोहन राजपूत, सुरेन्द्र तनेजा, केवल बत्रा, राजकुमार फुटेला, परमपाल सुखीजा, अनुपम सिंह, फणीन्द्र नाथ गुप्ता, हरपाल सिंह, केपी गंगवार, गुरबाज सिंह, सौरभ गंगवार, आकाश आहुजा, अशोक सागर, गोपाल भारती, एपी भारती, मुकेश गुप्ता, सुदेश जौहरी, हरविन्दर सिंह खालसा, ललित राठौर, गोपाल गोतम, अमन सिंह, दीपक कुकरेजा, विकास कुमार, शोएब, संजय भटनागर, विनोद आर्या, वेद प्रकाश, शुभोद्वति मण्डल, उसमान, मनीष ग्रोवर, हरपाल दिवाकर, मनोन आर्या, भूपेन्द्र सिंह, मनीष, समेत शहर के सभी पत्राकार मौजूद थे।

 

रुद्रपुर से केपी गंगवार की रिपोर्ट।

अपने मोबाइल पर भड़ास की खबरें पाएं. इसके लिए Telegram एप्प इंस्टाल कर यहां क्लिक करें : https://t.me/BhadasMedia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *