उमेश कुमार और GTM बिल्डर्स ने खरीदी ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ गोल्फ टीम

देश में गोल्फ को नई उंचाइंयों तक पहुंचाने के मकसद से गोल्फ प्रीमियर लीग 2013 की शुरुआत की जा रही है. अंतर्राष्ट्रीय स्तर के इस टूर्नामेंट में कुल 9 टीमें हिस्सा ले रही है. इन टीमों को नीलामी के ज़रिए अलग-अलग कॉर्पोरेट ग्रुप्स ने खरीदा है मगर नीलामी की प्रक्रिया के दौरान किसी भी टीम ओनर और फ्रेंन्चाइज़ी ने उत्तराखंड की टीम के लिए कोई भी बोली नहीं लगाई थी. यानि उत्तराखंड की टीम को कोई खरीदार ही नहीं मिला था.

जैसे ही ये शर्मनाक ख़बर देहरादून निवासी NEWS NETWORK OF INDIA (NNI) के CEO उमेश कुमार को मिली, उन्होने उत्तराखंड के मान को खंडित ना होने देने का फैसला किया. उन्होने आनन-फानन में प्रदेश की प्रतिष्ठा के लिए प्रयास शुरू किए और ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ की टीम को खरीद लिया. NEWS NETWORK OF INDIA (NNI) ने सूबे की प्रतिष्ठित रियल इस्टेट कंपनी GTM बिल्डर्स के साथ मिल कर प्रदेश में गोल्फ को बेहतर विकल्प के रूप में डेवलप करने का संकल्प भी लिया है.

मायानगरी मुंबई के एक पांच सितारा होटल में पत्रकारों से बातचीत करते हुए उमेश कुमार ने कहा कि “मैं उत्तराखंड का रहने वाला हूं। मेरे खून में उत्तराखंड बसता है। जैसे ही मुझे पता चला कि हमारे उत्तराखंड की टीम के लिए कोई फ्रेंचाइज़ी आगे ही नहीं आया और मेरे प्रदेश का अपमान हो रहा है, मुझसे रहा नहीं गया। मैंने अपने सहयोगियों से कहा कि चाहे कुछ भी क्यों ना हो जाए, मुझे ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ की टीम चाहिए और मै बेहद खुश हूं कि मैनें ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ की टीम को ओन किया है।“ उमेश कुमार ने आगे कहा कि “हम अच्छा प्रदर्शन करेंगे। हमारे पास खोने को कुछ भी नहीं है और पाने को सारा जहां है। हम उत्तराखंड के बहादुर लोगों की नुमाइंदगी कर रहे हैं और बेहतरीन प्रदर्शन कर दिखाएंगे। हमारी तैयारियां पूरे ज़ोर-शोर से चल रही हैं।“

पुणे स्थित सहारा इंडिया एम्बी वैली में होने वाली गोल्फ प्रीमियर लीग 2013 में जिन कुल 9 टीमों में खिताबी टक्कर होनी हैं, वो इस तरह से हैं…

1.     उत्तराखंड लॉयन्स

2.     गुजरात अंडरडॉग्स

3.     कर्नाटक वॉरियर्स

4.     महाराष्ट्र 59अर्स

5.     शुभकामना यूपी ईगल्स

6.     तमिलनाडू पुल्लीस

7.     विटालसी पंजाब लांसर्स

8.     कोलंबो सिक्सर्स

9.     डेहली डॉर्ट्स

इन 9 टीमों में दुनिया के चार-चार बेहतरीन गोल्फर्स हिस्सा लेंगें, जिन्हे नीलामी के ज़रिए खरीदने की प्रक्रिया तय की गई है। इस इंटरनेशनल लीग में देश और विदेश के नामी-गिरामी खिलाड़ियों के साथ ही साथ, एशियन टूअर प्लेयर्स और प्रोफेशनल गोल्फ टूर ऑफ इंडिया, PGTI के प्लेयर्स को भी शामिल किया गया है… अंडरडॉग मानी जा रही ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ को इससे काफी उम्मीदें हैं।

उत्तराखंड लॉयन्स के को-ओनर GTM बिल्डर्स के MD तुषार कुमार मानते हैं कि “‘उत्तराखंड लॉयन्स’ ऐसे खिलाड़ियों को ओन करेगी जो अच्छा दमदार प्रदर्शन करने में कामयाब हों और बेहतरीन फॉर्म में हों। हम बड़े बड़े नामों के बजाय, अच्छा खेल दिखाने वाले गोल्फर्स पर दांव आज़माएंगे। इंशाअल्लाह, जीत हमारी ही होगी। इससे हमारे प्रदेश में गोल्फ एक बेहतरीन विकल्प के तौर पर उभरेगा।”

गोल्फ प्रीमियर लीग का पहला संस्करण तीन दिनों तक चलेगा, जो 7 से 10 फरवरी के बीच पुणे के एंबी वैली सिटी गोल्फ कोर्स में खेला जाएगा। इसके लिए यूरोपियन टूअर, एशियन टूअर और PGTI ने खिलाड़ियों को रीलीज़ भी कर दिया है। GPL 2013 में सभी की निगाहें जहां शॉन मिचेल, डैरेन क्लार्क, एंजेल कैबरेरा, माइकल कैंपबेल और रिच बीम जैसे बड़े खिलाड़ियों पर होगी, वहीं भारत के स्टार गोल्फर गगनजीत भुल्लर भी अपना जादू बिखेरते नज़र आएंगे। ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ की टीम, इस लीग का हिस्सा बन चुकी है और गोल्फ स्टिक से करामात करने को तैयार भी है। ऐसे में ‘उत्तराखंड लॉयन्स’ की चुनौती को हल्के में लेना बाकी टीमों के लिए खासा सिरदर्द साबित हो सकता है।

प्रेस विज्ञप्ति

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *