गोवा में गांव वालों ने तीस पत्रकारों को बंधक बनाया

 

गोवा के कुरपेम गांव में स्थानीय लोगों ने करीब 30 पत्रकारों को बंधक बना लिया. ये पत्रकार एक समारोह में कवरेज करने गए थे.
 
आजीविका के लिए खनन पर निर्भर स्थानीय लोगों ने पणजी से करीब 80 किलोमीटर दूर कुरपेम गांव में शुक्रवार को करीब 30 पत्रकारों को बंधक बना लिया.
     
सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायर्नमेंट (सीएसई) और गोवा मराठी पत्रकार संघ की ओर से आयोजित तीन दिवसीय कार्यशाला में हिस्सा लेने के लिए पत्रकार वहां गए हुए थे.
     
आयोजकों में शामिल एक पत्रकार राजू नायक ने कहा कि करीब 80 लोगों के एक समूह ने हमें रोका और हमें दो घंटे तक बंधक बनाए रखा.
     
नायक ने कहा कि पुलिस को सूचित किया गया और पुलिस के घटनास्थल पर पहुंचने के बाद ही पत्रकार वहां से रवाना हुए.
     
स्थानीय लोग शायद इस बात से क्षुब्ध थे कि पूरे राज्य के खदानों में फिलहाल काम नहीं हो रहा है.
     
गोवा भारत में लौह अयस्क का बड़ा निर्यातक है. बहरहाल पिछले कुछ वर्षों से अवैध उत्खनन एवं पर्यावरणीय नुकसान चिंता का विषय बन गया है. (समय)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *