टीवी9 के मालिक रवि प्रकाश कोर्ट में पेश

पिछले दिनों एक साथ कई जर्नलिस्टों को टीवी9 से बाहर का रास्ता दिखाने के कारण विवादित हुए टीवी9 के मालिक रवि प्रकाश को कल जबरन कोर्ट में पेश किया गया. रवि प्रकाश समेत 4 लोग टीवी9 न्यूज चैनल पर प्रसारित एक खबर के चलते कोर्ट द्वारा तलब किए गए थे. बताया जाता है कि ये चारों आरोपी जब कोर्ट पहुंचे तो लोकल चैनल द्वारा कवरेज किए जाने के डर से कार से बाहर नहीं आ रहे थे. तब इन्हें जबरन कार से उतारकर कोर्ट में पेश किया गया.  बता दें कि टीवी9 महाराष्ट्र ने चार दिसंबर 2009 और रिपीट 5 दिसम्बर 2009 को एक न्यूज़ प्रसारित की थी. खबर के मुताबिक एक औरत बलात्कार की झूठी शिकायत करती है और लोगों को ब्लैकमेल करती है.

वीर, बरखा, राजदीप, प्रभु अपनी संपत्ति बताएं

: लोकतंत्र के चौथे खंभे (पत्रकारिता) को सूचना के अधिकार के दायरे में लाने के संदर्भ में आरटीआई एक्टिविस्ट अफरोज आलम साहिल का एक खुला पत्र : सेवा में, महोदय, मैं अफ़रोज़ आलम साहिल। पत्रकार होने के साथ-साथ एक आरटीआई एक्टिविस्ट भी हूं। मैं कुछ कहना-मांगना चाहता हूं। मेरी मांग है कि लोकतंत्र के चौथे खंभे यानी मीडिया को सूचना के अधिकार अधिनियम-2005 के दायरे में लाया जाए। लोकतंत्र के पहले तीनों खंभे सूचना के अधिकार अधिनियम-2005 के दायरे में आते हैं। यह कानून कार्यपालिका, विधायिका और न्यायपालिका तीनों पर लागू होता है। इसका मक़सद साफ है कि लोकतंत्र को मज़बूत किया जा सके।