हरीश पाठक, अब सुधर जाइए

राष्ट्रीय सहारा, पटना में स्थानीय संपादक द्वारा डांटे जाने के बाद अत्यधिक तनाव के चलते अचानक एक जर्नलिस्ट के बेहोश होने की घटना के बारे में कई नए तथ्य पता चले हैं. भड़ास4मीडिया की जांच से खुलासा हुआ है कि इस घटनाक्रम के लिए पूरी तरह जिम्मेदार स्थानीय संपादक हरीश पाठक हैं. संतोष चंदन, जो कुछ महीने पहले तक दिल्ली में सहारा समय न्यूज चैनल के हिस्से हुआ करते थे, अपनी मर्जी से पटना गए और अपनी मर्जी से टीवी की बजाय प्रिंट को चुनकर उसके हिस्से बने. ऐसा पत्रकारीय समझ और बेहतर काम करने की इच्छा-तमन्ना-भावना के कारण.