सीवीबी की जानबूझ कर इमेज खराब करने वालों ये पढ़ो

This is in response to your article on CVB News Service in the ‘Kanafusi’ section of Bhadas4media. Kindly publish it in the interest of your readers to have a balanced and correct view of the happenings in the organization. Let me correct some of the false claims made in the article in a deliberate attempt to tarnish CVB News Service’s image.

चिटफंडिये ने यशवंत देशमुख को लूटा या खुद लुट गया? …कानाफूसी जारी आहे

: संपर्कों के धनी, संकटमोचक कहे जाने वाले और लाखों रुपये पाने वाले वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप सिंह भी देशमुख की डूबती कंपनी का भला नहीं कर पा रहे : भड़ास वाले यशवंत जी, पता नहीं आपका अपने नाम वाले यशवंत (सी वोटर वाले) से क्या याराना है. यशवंत देशमुख की कंपनी में क्या से क्या हो गया, और आप लोग हैं कि चुप्पी साधे हुए हैं. कोई खबर नहीं छाप रहे. कोई जानकारी नहीं दे रहे.